SC ने कहा, सोशल मीडिया ऑक्जेनज और बेड की पोस्ट करने वालों पर न हो कार्रवाई

India


कोरोना मामले पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट (सुप्रीम कोर्ट) ने केंद्र, राज्यों व डीजीपी को आदेश देते हुए कहा है कि यदि अफवाह फैलाने के नाम पर कार्यवाही की जाए तो अवमानना ​​का मामला चला गया।

नई दिल्ली। कोरोना (कोरोना) की दूसरी लहर (दूसरी लहर) ने देश में कोहराम मचा रखा है। मरीजों की संख्‍या तो ज्‍यादा हो गई है बेडौल बिस्तर तक मिलना मुश्किल हो गया है। ऐसे में बहुत से लोग सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ पोस्ट कर रहे हैं तो कुछ लोग सोशल मीडिया के जरिए एक दूसरे की मदद कर रहे हैं। ऐसे में खबर है कि राज्य सरकार सोशल मीडिया पर इस तरह की पोस्ट डालने वालों पर कार्रवाई का मन बना रही है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट (सुप्रीम कोर्ट) ने महत्वपूर्ण आदेश देते हुए कहा है कि सोशल मीडिया पर ऑक्सीजन, बेड, ड्रग्स आदि की पोस्ट करने वालों पर कार्रवाई नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, राज्यों और डीजीपी को आदेश देते हुए कहा है कि अगर अफवाह फैलाने के नाम पर कार्यवाही की तो अवमानना ​​का मामला चला गया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमने देश के कई महत्वपूर्ण मुद्दों की पहचान की है और हमारी सुनवाई का उद्देश्य राष्ट्रीय हित के मुद्दों की पहचान करना और संवाद की समीक्षा करना है।

यह भी पढ़ें: – कोरोना परिस्थिति से जूझ रहे भारत को पाकिस्तान ने मदद देने की पेशकश कीजस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि हमने कई महत्वपूर्ण मुद्दों की पहचान की है। इसमें ऑक्सीजन की आपूर्ति का मुद्दा, राज्यों को कितनी आपूर्ति की जा रही है, इसका मैकेनिज्म क्या है, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स के उपयोग पर योजना और भारत के बाहर से प्राप्त होने वाली ऑक्सीजन / चिकित्सा सहायता की क्या उम्मीद है। उन्होंने कहा कि कोरोना को ओवर करने के लिए केंद्र किन प्रतिबंधों, लॉकडाउन पर विचार कर रहा है? यह भी पढ़ें: – सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा सवाल, कहा- 100% वैक्सीन क्यों नहीं खरीद रही केंद्र सरकार? सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से सवाल करते हुए पूछा कि सरकार ने ऑक्जेन टैंकर, सिलेंडरों की उपलब्धता बढ़ाने के संदर्भ में क्या प्रयास किया है। कोर्ट ने कहा कि सरकार की ओर से जो जानकारी दी गई है उसमें ये नहीं लिखा है कि टैंकर कहां से आयांगे।








Source link

उच्चतम न्यायालय ऑकसीजन ऑक्सीजन कोरोना दूसरी लहर बिस्तर बेड सामाजिक मीडिया सुप्रीम कोर्ट सोशल मीडिया कोरोना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

India

सिर्फ ५० से ६० हजार रु। में शुरू करें

इस व्यवसाय को शुरू करने से आप अच्छी मुनाफा कमा सकते हैं अगर आप भी कोई बिजनेस शुरू करने का प्लान बना रहे हैं तो आप शोरूम का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। बटनरूम (बटन मशरूम) एक ऐसी जाति है जिसमें मिनरल्स (खनिज) और विटामिन (विटामिन) प्रचुर मात्रा में होता है। इसी तरह बेनिफिट्स की

India

एक्सपर्ट बोले- मई के मध्य से अंत तक कोरोना के मामलों में आने लगेगी गिरावट

मशहूर विशेषज्ञ गगनदी कांग की भविष्यवाणी, मई मध्य से अंत तक कोरोना के मामले में गिरावट आ जाएगी कोरोनावायरस अपडेट: विशेषज्ञों ने कहा कि वर्तमान में यह उन क्षेत्रों में जा रहा है, जहां वह पिछले साल नहीं पहुंचा है। मध्य वर्ग को अपना शिकार बना रहा है, ग्रामीण क्षेत्र में अपना पैर पसार है

India

सिर्फ पिनुय विजयन की वजह से नहीं, एकजुट प्रयास से मिली केरल में जीत: माकपा मुखपत्र

इस प्रचंड जीत के साथ विजयन केरल में तीसरे ऐसे मुख्यमंत्री हो गए हैं जिनकी अगुवाई में लगातार कुछ चुनाव जीते गए। केरल विधानसभा चुनाव: मुखपत्र के संपादन और माकपा के पूर्व महासचिव प्रकाश करत इस संपादकीय में विजयन को ‘सुप्रीम लीडर’ (सर्वोच्च नेता) या ‘स्ट्रांग मैन’ (सशक्त व्यक्ति) कहे जाने पर आपत्ति जताते हुए

India

दिल्ली के बाद महाराष्ट्र में केंद्र ने लगाए आरोप, स्वास्थ्य मंत्री बोले-ऑक्सीजन आवंटन में 50% टन की कमी

वर्तमान में कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी देखी जा रही है। महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की आपूर्ति: महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने कहा कि यदि ऑक्सीजन की आपूर्ति बहाल नहीं की गई तो हम गंभीर कमी का सामना करेंगे। उन्होंने कहा कि हमें इस अवधि में केंद्र से अधिक ऑक्सीजन मिलनी आवश्यक है। मुंबई।