Trending News

राष्ट्रीय युवा दिवस: पांच साल की कड़ी मेहनत से स्टेट चैंपियन बनीं रूबी

Himachal Pradesh Kangra

रूबी स्कूल से 9वीं, 10वीं व 11वीं में तीन साल लगातार बैंडमिंटन चैंपियन रही।इसके बाद अभी हाल ही में संपन्न ओपन स्टेट वूमेन बैडमिंटन चैंपियनशिप 2021 का खिताब रूबी ने अपने नाम किया।

धार्मिक नगरी ज्वालामुखी के कुंदलीहार स्थित कपूर एकेडमी में पांच साल की कड़ी मेहनत के प्रशिक्षण से धवाला की रूबी ने ओपन स्टेट वूमेन बैडमिंटन चैंपियनशिप 2021 अपने नाम की। रूबी ने इसका श्रेय कपूर अकादमी के संचालक एवं कोच रविंद्र कपूर को दिया।

www.newsreportinglive.com/ 

रूबी के पिता देशराज एचआरटीसी में चालक, जबकि माता गृहिणी हैं।  रूबी को बचपन से ही खेलों का शौक था। अपनी बेटी का शौक पूरा करने के लिए अकादमी में 2016 से प्रशिक्षण दिलवाना शुरू किया। उसके बाद रूबी स्कूल से 9वीं, 10वीं व 11वीं में तीन साल लगातार बैंडमिंटन चैंपियन रही।

इसके बाद अभी हाल ही में संपन्न ओपन स्टेट वूमेन बैडमिंटन चैंपियनशिप 2021 का खिताब रूबी ने अपने नाम किया। रूबी बताती हैं कि वह आगे भी खेलना चाहती है और अपने देश का नाम रोशन करना चाहती हैं। अभी रूबी ढलियारा कॉलेज में  द्वितीय वर्ष में पढ़ रही हैं।

कांगड़ा में स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ाई कोरोना जांच की रेंडल सेंपलिंग

धर्मशाला। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग को कोविड सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में विभाग ने टेस्टिंग तेज कर दी है। विभाग की टीमें बाजारों में बिना मास्क घूम रहे लोगों व दुकानदारों की रैंडम सैंपलिंग शुरू कर दी है, जिससे ज्यादा लोगों की कोरोना जांच की जा सके और संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।


वहीं दूसरी ओर पुलिस की ओर से भी बाजारों में बिना मास्क घूम रहे लोगों के चालान काटे जा रहे हैं। मंगलवार को भी स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने राजा का तालाब में लोगों की रेंडम सैंपलिंग की, क्योंकि सोमवार को राजा का तालाब में कोरोना के कई मामले सामने आए थे। इसके अलावा नूरपुर मिनी सचिवालय में भी कर्मचारियों के कोरोना सैंपल भरे गए हैं। विभाग का कहना है कि जिस क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के मामले अधिक आ रहे हैं, वहां पर रैंडल सैंपलिंग की जा रही है।


उधर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विक्रम कटोच ने बताया कि प्रशासन के निर्देशों के अनुसरा जिला कांगड़ा में कोरोना जांच बढ़ाई गई है। बाजारों में भी बिना मास्क घूम रहे लोगों की रैपिड जांच की जा रही है। अभियान के जरिये लोग जागरूक भी होंगे और मास्क का सही प्रयोग करेंगे। उन्होंने लोगों से हलके लक्षण होने पर कोरोना जांच करवाने की अपील की है।


मोबाइल टीम ने राजा का तालाब में किए टेस्ट, छह निकले पॉजिटिव
राजा का तालाब (कांगड़ा)। क्षेत्र में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए विभाग ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल टीम सीएचओ सुनीता देवी, फीमेल हेल्थ वर्कर मल्लिका देवी, आशा वर्कर सरोज बाला, तृप्ता देवी, सुदेश कुमारी की टीम ने राजा का तालाब बाजार में दुकानों पर जाकर कोविड-19 टेस्ट किए।

Link


इस दौरान एसडीएम फतेहपुर अंकुश शर्मा, डॉ. गौरव शर्मा भी मौजूद रहे। एसडीएम ने राजा का तालाब की डाकघर गली में पुलिस टीम के साथ नाका लगाकर आने जाने वाले लोगों को रोककर उनके कोविड-19 टेस्ट करवाए। वहीं चालकों के भी टेस्ट किए। एसडीम ने इस दौरान बिना हेलमेट जा रहे दोपहिया वाहन चालकों को रोककर उनसे पूछताछ की। एसडीएम अंकुश शर्मा ने लोगों से आग्रह किया कि वह उदासीन रवैया छोड़कर सतर्कता अपनाएं और प्रशासन का साथ दें।

पूर्व मेयर देवेंद्र जग्गी पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

धर्मशाला। नगर निगम धर्मशाला के पूर्व मेयर और वर्तमान में पार्षद देवेंद्र जग्गी के खिलाफ विजिलेंस ब्यूरो ने धोखाधड़ी और षड्यंत्र रचने का मामला दर्ज किया है। विजिलेंस ने यह कार्रवाई 2018 में 11 पार्षदों की आई शिकायत पर की गई पड़ताल के बाद सरकार से अनुमति मिलने के बाद की है। पूर्व मेयर के साथ ही इस मामले में धर्मशाला नगर परिषद के समय में ईओ रहे महेश शर्मा के खिलाफ भी धारा 420 का मामला दर्ज किया है। मामला नगर निगम कार्यालय के साथ लगते भवन को गलत तरीके से लीज पर लेने और इसे आगे किराये पर देने से संबंधित है।


जानकारी के अनुसार वर्ष 2018 में 11 पार्षदों ने देवेंद्र जग्गी के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत विजिलेंस में की थी। शिकायत में कहा गया था कि नगर निगम धर्मशाला के मुख्य कार्यालय के साथ एक भवन को 25 सालों के लिए 30 लाख रुपये लीज राशि व प्रतिमाह 30 हजार रुपये के किराये पर लिया गया। शिकायत मिलने के बाद जांच के दौरान विजिलेंस ने पाया कि इस भवन को नगर परिषद के कर्मचारियों के लिए रेस्ट हाउस के लिए निर्मित किया जा रहा था।

वर्ष 2005 में जग्गी ने बिना सिक्योरिटी राशि और मासिक किराये को दर्शाए उन्होंने जनरल हाउस को विश्वास में लिए बिना ही इस भवन को लीज पर लिया था। इतना ही नहीं, जांच में पाया गया कि तत्कालीन ईओ ने भी नियमों को दरकिनार कर भवन को लीज पर दे दिया। जांच में यह भी पाया गया कि इस भवन में कुछ बदलाव कर इसे आगे किराये पर दे दिया गया। इसमें बैंक व इंश्योरेंश कंपनी को भी बिल्डिंग किराये पर दी तथा वर्ष 2006 से 2019 तक 1,60,94,620 रुपये किराया वसूला गया।

जबकि इस दौरान एमसी को 18,38,869 रुपये ही किराये के रूप में दिए गए। जांच के बाद रिपोर्ट विजिलेंस हेडक्वार्टर भेजी गई, जहां से ईओ व पूर्व मेयर के खिलाफ मामला दर्ज करने की मंजूरी मिली है।

वर्ष 2018 में 11 पार्षदों ने देवेंद्र जग्गी के खिलाफ धोखाधड़ी और षड्यंत्र रचकर भवन को हासिल करने की शिकायत दर्ज करवाई थी। इस पर विजिलेंस ब्यूरो ने कार्रवाई कर रिपोर्ट सरकार को भेजी थी तथा जग्गी पर मामला दर्ज करने की अनुमति मांगी थी। अब सरकार से अनुमति मिलने के बाद पूर्व मेयर देवेंद्र जग्गी पर विजिलेंस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। – बलबीर सिंह जसवाल, एएसपी, विजिलेंस ब्यूरो धर्मशाला।


वहीं, पूर्व मेयर एवं वर्तमान पार्षद देवेंद्र जग्गी ने कहा कि उनके खिलाफ यह सारा मामला राजनीति से प्रेरित है। जिस भवन से संबंधित धोखाधड़ी को लेकर यह मामला दर्ज किया गया है, उस भवन से संबंधित सभी दस्तावेज उनके पास हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Posts

Himachal Pradesh Kullu Mandi Shimla

Himachal : ऊपरी शिमला(Upper Shimla), मंडी(Mandi) के ऊंचे इलाके, कुल्लू (Kullu) कटा |

Himachal (Shimla) :

Himachal : ऊपरी शिमला(Upper Shimla) क्षेत्र और मंडी(Mandi) और कुल्लू(Kullu) जिलों के ऊंचे इलाकों से संपर्क टूट गया है, जबकि राज्य के अधिकांश

Himachal Pradesh Solan

Himachal : कसौली(Kasauli), सोलन(Solan), बरोग(Barog), दगशाई में सीजन की पहली बर्फबारी |

Himachal (Solan) :

Himachal : सोलन जिले के कसौली(Kasauli), सोलन(Solan), बरोग(Barog) और डगशाई में शुक्रवार को सीजन की पहली बर्फबारी हुई।

इन हिल स्टेशनों पर

Himachal Pradesh Kangra

Himachal : कांगड़ा( Kangra ) में 100 पूर्व भूस्खलन चेतावनी प्रणालियां होंगी |

Himachal :

Himachal( Kangra ) : कांगड़ा के जिला प्रशासन ने कांगड़ा जिले और उसके आसपास के क्षेत्रों के लिए उपग्रह आधारित सबसिडेंस सिस्टम प्रोफाइल के