India China | Air China, China Southern Airlines and Inter Globe Aviation Limited Indigo In World’s Top 10 Airline Stocks List | बड़े घरेलू मार्केट का मिला फायदा, दुनिया के टॉप 10 एयरलाइन स्टॉक्स लिस्ट में चीन की 9 कंपनियां तो भारत की एकमात्र इंडिगो शामिल

Published by Razak Mohammad on

  • Hindi News
  • Business
  • India China | Air China, China Southern Airlines And Inter Globe Aviation Limited Indigo In World’s Top 10 Airline Stocks List

नई दिल्ली10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

चाइना इंटरनेशनल कैपिटल कॉर्प को साल 2019 के मुकाबले साल 2021 में एयर ट्रैफिक लेवल में 15 फीसदी की उछाल का अनुमान है।

  • साल 2019 के मुकाबले साल 2021 में एयर ट्रैफिक लेवल में 15 फीसदी की उछाल का अनुमान
  • पैसेंजर ट्रैफिक में सुधार के लिए साल 2024 तक का इंतजार करना पड़ सकता है।

दुनिया के टॉप 10 एयरलाइंस शेयर में से 9 शेयर अकेले चीनी एयरलाइन कंपनियों के हैं। इस लिस्ट में भारत की एकमात्र एयरलाइन कंपनी इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड यानी इंडिगो शामिल है। चाइनीज एयरलाइंस कंपनियों के शेयर में आई तेजी की वजह क्रूड ऑयल की घटती कीमतें और लोकल करेंसी यूआन की मजबूती है।

एयरलाइंस शेयरों में बढ़त

चाइनीज एयरलाइंस शेयरों में लगातार तीसरे महीने बढ़त बरकरार रही। टॉप शेयरों की लिस्ट में शामिल एयर चाइना लिमिटेड में डबल डिजिट की बढ़त देखी गई। जबकि लिस्ट में छठे स्थान पर काबिज भारतीय एयरलाइन इंटर ग्लोब ( जो भारत की सबसे बड़ी कैरियर इंडिगो को ऑपरेट करती है ) के स्टॉक में 13 प्रतिशत की बढ़त रही। इस लिस्ट में सबसे ऊपर स्प्रिंग एयरलाइन कंपनी का शेयर है, जिसमें लगभग 22 प्रतिशत की बढ़त है।

पहली छमाही में घाटा

ब्लूमबर्ग के मुताबिक चीन की तीन बड़ी एयरलाइंस कंपनियों को इस साल की दूसरी छमाही में मुनाफे का अनुमान नहीं है। इसमें एयर चाइना, चाइना सदर्न एयरलाइंस कंपनी और चाइना ईस्टर्न एयरलाइंस कॉर्प शामिल हैं। इन कंपनियों को इसी साल की पहली छमाही में प्रत्येक को लगभग 8 बिलियन यूआन (8.58 हजार करोड़ रुपए) का घाटा हुआ है।

घरेलू मार्केट का मिला फायदा

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना महामारी का असर चाइनीज एयरलाइंस पर भी पड़ा, लेकिन बड़े घरेलू मार्केट के चलते इसमें रिकवरी करने में सफल रही। दूसरी ओर लोकल करेंसी यूआन में मजबूती का भी फायदा मिला। इससे एयरलाइंस को फ्यूल की कीमत और कर्ज दोनों पर कम खर्च करना पड़ रहा है। इसके अलावा ग्लोबल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतों में गिरावट का भी असर रिकवरी पर पड़ा है।

एयर ट्रैफिक लेवल में उछाल की उम्मीद

चाइना इंटरनेशनल कैपिटल कॉर्प को साल 2019 के मुकाबले साल 2021 में एयर ट्रैफिक लेवल में 15 फीसदी की उछाल का अनुमान है। दरअसल अक्टूबर के शुरुआत में नेशनल हॉलिडे के चलते ट्रैफिक बढ़ने की उम्मीद है। इससे पहले कोरोना संकट के बीच दुनियाभर में हवाई उड़ाने लगभग ठप हो गई थी। स्वास्थ्य चिंताओं के चलते पैसेंजर्स भी हवाई यात्रा करने से बच रहे हैं। इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के मुताबिक पैसेंजर ट्रैफिक में सुधार के लिए साल 2024 तक का इंतजार करना पड़ सकता है।

वैक्सीन के वितरण के लिए कार्गो जहाज की जरुरत

वहीं आईएटीए ने कोरोना संकट के बीच 8 हजार बोइंग 747 विमानों की जरुरत बताई है। दरअसल आने वाले दिनों में दुनियाभर में वैक्सीन वितरण के लिए इसकी जरुरत होगी। एसोसिएशन का कहना है कि वैक्सीन निर्माण अपने आखिरी चरण पर है। ऐसे में प्रति व्यक्ति तक पहुंच के लिए इसका वितरण करना आसान नहीं होगा।

आईएटीए के मुख्य अधिकारी एलेक्जेंडर डे जूनियाक का कहना है कि कोविड-19 के वैक्सीन की सुरक्षित डिलिवरी के लिए पहले से ही प्लानिंग करना होगा। इसके लिए कार्गो जहाजों की आवश्यकता पड़ेगी। बता दें कि 140 वैक्सीन शुरुआती फेज में हैं, जबकि करीब दो दर्जन वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल किया जा रहा है।

0

Source link

Categories: Business

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *