ICICI Home Finance Launches Micro Home Loan For Customers In Informal Sector | आईसीआईसीआई होम फाइनेंस लाया है आकर्षक ऑफर, अब घर के लिए दो लाख रुपए तक का भी मिल सकेगा लोन

Published by Razak Mohammad on

  • Hindi News
  • Business
  • ICICI Home Finance Launches Micro Home Loan For Customers In Informal Sector

मुंबई8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बैंक के मुताबिक ग्राहकों को ‘अपना घर ड्रीम्स’ के लिए पैन कार्ड, आधार कार्ड और पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट जमा करना होगा।

  • 5 लाख रुपए तक के होमलोन के लिए बैंक खाते में कम से 1500 रुपए होना आवश्यक है।
  • होमलोन लेने के लिए ग्राहक अपने नजदीकी आईसीआईसीआई होम फाइनेंस के ब्रांच से संपर्क कर सकते हैं।

अगर आपकी आमदनी कम है तो घर खरीदने में आईसीआईसीआई होम फाइनेंस का ‘अपना घर ड्रीम्स’ स्कीम से आपको मदद मिल सकती है। कंपनी ने बुधवार को ‘अपना घर ड्रीम्स’ योजना को लॉन्च किया है। जिसका लक्ष्य कम इनकम वाले ग्राहकों को होमलोन मुहैया कराना है। इसमें ग्राहकों को 2 लाख से 50 लाख रुपए तक का होम लोन दिया जाएगा।

‘अपना घर ड्रीम्स’ स्कीम

कंपनी का कहना है कि हम इन्फॉर्मल सेक्टर में काम करने वाले लोगों का घर खरीदने का सपना पूरा करना चाहते हैं। इसमें कारपेंटर, प्लंबर, इलेक्ट्रिशियन, टेलर, पेंटर, ऑटो मैकेनिक सहित छोटे कारोबारी और किराना स्टोर मालिक भी शामिल हैं।

आईसीआईसीआई होम फाइनेंस के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ अनिरुद्ध कमानी ने कहा कि ‘अपना घर ड्रीम्स’ जरिए हम इन्फॉर्मल सेक्टर में काम करने वाले प्रोफेशनल्स और छोटे कारोबारियों के लिए होमलोन मुहैया करा रहे हैं। इसके अलावा हमारी लीगल और टेक्नीकल एक्सपर्ट की टीम ग्राहकों की मदद कर रहे हैं। जिससे ग्राहकों को होमलोन और डॉक्यूमेंट संबंधित मुश्किलें न हो।

कैसे मिलेगा होमलोन

बैंक के मुताबिक ग्राहकों को ‘अपना घर ड्रीम्स’ के लिए पैन कार्ड, आधार कार्ड और पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट जमा करना होगा। इसके अलावा 5 लाख रुपए तक के होमलोन के लिए बैंक खाते में कम से 1500 रुपए और 5 लाख से ज्यादा होमलोन के लिए बैंक खाते में कम से कम 3000 रुपए रहना आवश्यक है। होमलोन लेने के लिए ग्राहक अपने नजदीकी आईसीआईसीआई होम फाइनेंस के ब्रांच से संपर्क कर सकते हैं।

कंपनी ने कहा कि इसके अलावा ग्राहक प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के सभी बेनिफिट्स का भी लाभ ले सकते हैं। जो निम्न आय वर्ग या आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों (EWS /LIG) और मध्यम आय समूहों (MIG – I और II) के लिए एक क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी योजना (CLSS) है।

0

Source link


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *