Equity MF: Investors Pull Out Rs 10 Thousand Crore From Equity Mutual Funds In December | इक्विटी म्यूचुअल फंड से दिसंबर में निवेशकों ने 10 हजार करोड़ निकाले

Published by Razak Mohammad on

  • Hindi News
  • Business
  • Equity MF: Investors Pull Out Rs 10 Thousand Crore From Equity Mutual Funds In December

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • निवेशकों ने नवंबर में इक्विटी फंड से 12,917.36 करोड़ रुपए निकाले थे
  • दिसंबर में लॉर्ज कैप से 3,876.39 और मल्टी कैप से 3,540.77 करोड़ निकाले
  • SIP फोलियो की संख्या बढ़कर 3.47 करोड़ रही है। AUM 3.98 लाख करोड रुपए रहा है

दिसंबर में इक्विटी म्यूचुअल फंड के निवेशकों ने 10,147.12 करोड़ रुपए निकाला है। इक्विटी म्यूचुअल फंड से निवेशक पिछले 6 महीने से लगातार पैसे निकाल रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि मार्च के अंत से शेयर बाजार में तेजी दिखी है। उस समय के निवेश में अच्छी बढ़त हुई है। इसलिए मुनाफा वसूली निवेशक कर रहे हैं।

बाजार की तेजी में फायदा कमा रहे हैं निवेशक

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। निवेशकों के इस रुझान से यह पता चल रहा है कि वे बाजार की तेजी में निवेश करने की बजाय अपना फायदा निकाल रहे हैं। एंफी के आंकड़ों के मुताबिक, निवेशकों ने नवंबर में 12,917.36 करोड़ रुपए निकाले थे। दिसंबर में हालांकि उससे करीबन 2,770 करो़ड़ रुपए कम निकाले हैं।

दिसंबर में कुल 26 हजार 73 करोड़ का निवेश

इक्विटी म्यूचुअल फंड में दिसंबर में कुल 26 हजार 73 करोड़ रुपए का निवेश हुआ। जबकि इसी दौरान 36 हजार 220 करोड़ रुपए निकाले गए। यह दोनों आंकड़ा नवंबर की तुलना में बढ़ा है। निवेशकों ने लॉर्ज कैप से सबसे ज्यादा पैसा निकाला है। लॉर्ज कैप से 3,876.39 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। मल्टी कैप फंड से 3,540.77 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। कांट्रा फंड्स, मिड कैप फंड्स और फोकस्ड फंड्स से भी 1-1 हजार करोड़ रुपए निकाले गए हैं।

सेक्टरल फंड में 3,412 करोड़ का निवेश

दूसरी ओर सेक्टरल फंड में 3,412 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है। डिविडेंड यील्ड फंड में 1,490 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है। म्यूचुअल फंड एडवाइजर डीडी शर्मा कहते हैं कि बाजार में ज्यादा तेजी के कारण इक्विटी से निवेशकों से पैसा निकाला है। यह पोर्टफोलियो को रिबैलेंसिंग करने की रणनीति है। हकीकत में नेट आउटफ्लो का नंबर इससे ज्यादा हो सकता है। एनएफओ ने जो 7,600 करोड़ रुपए जुटाए हैं, उसमें से भी निकासी हुई होगी।

घरेलू निवेशक लगातार निकाल रहे हैं पैसे

घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने भी दिसंबर में बिकवाली की है। उन्होंने 37 हजार 293 करोड़ रुपए का शेयर बेचा है। नवंबर में उन्होंने 48 हजार 339 करोड़ रुपए का शेयर बेचा था। दूसरी ओर विदेशी निवेशकों (FII) ने इसी दौरान दिसंबर में 62 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का शेयर खरीदा है।

नवंबर में एयूएम 31 लाख करोड़ रुपए

नवंबर में म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का असेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 31 लाख करोड़ रुपए था जो दिसंबर में 29.71 लाख करोड़ रुपए रहा है। सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) में दिसंबर में 8,418 करोड़ रुपए आया है। जबकि नवंबर में यह 7,306 करोड़ रुपए रहा है। SIP के फोलियो की संख्या दिसंबर में मामूली बढ़कर 3.47 करोड़ रही है। SIP का कुल AUM 3.98 लाख करोड रुपए रहा है। दिसंबर में SIP में बढ़त इसलिए आई क्योंकि नवंबर के अंतिम 3 दिन में छुटि्टयां थीं। इसलिए वह निवेश दिसंबर में आ गया। क्योंकि बैंक बंद होने से नवंबर में वह प्रोसीज नहीं हो पाया।

जनवरी में भी हो सकती है मुनाफा वसूली

वैसे विश्लेषकों का मानना है कि जनवरी महीने में भी मुनाफा वसूली हो सकती है। क्योंकि बाजार लगातार तेजी में बना हुआ है। साथ ही बजट के माहौल में बाजार लगातार तेजी में रह सकता है। ऐसे में इक्विटी फंड से और ज्यादा पैसे निकाले जाएंगे। दूसरी ओर डेट म्यूचुअल फंड स्कीम में लगातार निवेश हो रहा है। दिसंबर में इसमें 13 हजार 862 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। हालांकि नवंबर की तुलना में यह काफी कम है। कॉर्पोरेट बांड में जहां 8,609 करोड़ रुपए आया है वहीं ओवरनाइट और लिक्विड फंड में भी पैसे आए हैं। मनी मार्केट से 11,986 करोड़ रुपए निकाले गए हैं।

Source link

Categories: Business

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *