Trending News

पंजाब CM ऑफिस के 2 कर्मचारियों को कोरोना:​​​​​​​फिरोजपुर में PM मोदी के कार्यक्रम में नहीं जाएंगे मुख्यमंत्री चन्नी, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लेंगे हिस्सा

Other

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से पहले मुख्यमंत्री कार्यालय के दो कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आ गए हैं, जिसके बाद CM चरणजीत चन्नी का फिरोजपुर जाना रद्द हो गया है। CM चन्नी अब वर्चुअल तरीके से कार्यक्रम में जुड़ेंगे।

www.newsreportinglive.com/

पीएम मोदी ने फिरोजपुर में चुनावी रैली से पहले दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस-वे, अमृतसर-ऊना फोर लेन, मुकेरियां-तलवाड़ा रेलवे लाइन, पीजीआई के सैटेलाइट सेंटर और कपूरथला और होशियारपुर में 2 मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करना है। सीएम चरणजीत चन्नी के पीएम के कार्यक्रम में न जाने के पीछे चुनावी राजनीति को भी वजह माना जा रहा है।

CM बनने के बाद चरणजीत चन्नी ने दिल्ली में PM मोदी से मुलाकात की थी।

CM बनने के बाद चरणजीत चन्नी ने दिल्ली में PM मोदी से मुलाकात की थी।

वित्तमंत्री और विधायक होंगे शामिल, CM के न जाने के पीछे राजनीतिक वजह भी

CM चरणजीत चन्नी के पीएम के कार्यक्रम में न जाने की वजह से अब पंजाब सरकार की तरफ से इसमें वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल और विधायक परमिंदर सिंह पिंकी शामिल होंगे। हालांकि सीएम चन्नी के उद्घाटन समारोह में न जाने के पीछे राजनीतिक कारण भी माने जा रहे हैं।

पंजाब में कुछ दिन बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में पीएम के साथ पंजाब के कांग्रेसी सीएम का स्टेज सांझी करना कांग्रेस के लिहाज से नुकसानदेह हो सकता था। खासकर इसलिए क्योंकि किसान और पंजाब के गांवों में लोग अब भी किसान आंदोलन और उसमें हुई मौतों की वजह से भाजपा का विरोध कर रहे हैं। हालांकि पंजाब सरकार कोरोना को ही बहाना बना रही है।

पहले खुद उद्घाटन करना चाहते थे सीएम, केंद्र से फटकार पड़ी

इससे पहले सीएम चरणजीत चन्नी कपूरथला और होशियारपुर में बनने वाले मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करने वाले थे। इसके लिए 18 दिसंबर की तैयारियां भी पूरी हो चुकी थी। हालांकि अचानक केंद्रीय सेहत मंत्रालय को इसकी जानकारी मिल गई। उन्होंने पंजाब सरकार को फटकार लगाई, जिसके बाद यह उद्घाटन टालना पड़ा। इन दोनों मेडिकल कॉलेज में 60% रकम केंद्र और 40% राज्य दे रही है। केंद्र इनके लिए 50-50 करोड़ की राशि रिलीज भी कर चुकी है।

पंजाब सरकार के उद्घाटन का पता चलते ही केंद्रीय सेहत सचिव राजेश भूषण ने पंजाब के चीफ सेक्रेटरी अनिरुद्ध तिवारी को पत्र लिखकर कड़ा एतराज जताया। उन्होंने यह भी पूछा था कि केंद्र को भरोसे में लिए बगैर CM का कार्यक्रम कैसे रख लिया गया।

किसानों ने PM मोदी की रैली का विरोध टाला:15 मार्च को किसान नेताओं से मिलेंगे प्रधानमंत्री;15 जनवरी से पहले बनेगी MSP कमेटी

https://www.bhaskar.com/local/chandigarh/news/narendra-modi-in-punjab-farmer-organizations-will-not-oppose-pm-modis-ferozepur-rally-in-punjab-129273281.html?ref=inbound_More_News

पंजाब में किसानों ने फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली का विरोध टाल दिया है। इस संबंध में मंगलवार रात को किसान नेताओं की केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत से मीटिंग हुई। जिसमें फैसला हुआ कि 15 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी किसानों से मिलेंगे। यह मुलाकात दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में होगी। इसके अलावा 15 जनवरी से पहले MSP पर कानूनी गारंटी वाली कमेटी बना दी जाएगी।

किसानों को यह भी भरोसा दिया गया कि आंदोलन के दौरान पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में दर्ज हुए केस 31 जनवरी तक वापस ले लिए जाएंगे। फिरोजपुर में भाजपा के पंजाब चुनाव प्रभारी गजेंद्र शेखावत के साथ किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के राज्य प्रधान सतनाम सिंह पन्नू की मीटिंग हुई, जिसके बाद यह फैसला लिया गया।

किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के नेता सरवण सिंह पंधेर ने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत से कई दौर की मीटिंग के बाद यह तय हुआ कि फिलहाल किसान फिरोजपुर में बैठे हैं। हम विरोध नहीं करेंगे लेकिन केंद्र से अभी हमें लेटर का इंतजार है।

11 बजे तक मिल सकता है लेटर

फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब एक बजे पहुंचेंगे। वह बठिंडा के भिसियाना एयरबेस पर उतरेंगे। वहां से फिरोजपुर जाएंगे। इससे पहले किसानों के साथ मीटिंग में तय हुआ कि इन फैसलों के बारे में 11 बजे तक उन्हें औपचारिक पत्र भी दे दिया जाएगा। किसान नेता भी इसका इंतजार करेंगे। अगर उन्हें पत्र मिल गया तो फिर पीएम का विरोध टाल दिया जाएगा।

रैली का विरोध कर रहे थे किसान

फिरोजपुर में प्रधानमंत्री की रैली का पता चलते ही किसान विरोध कर रहे थे। उनका कहना था कि केंद्र ने कृषि कानून वापस ले लिए, लेकिन अभी तक बाकी मांगें नहीं मानी। जिनमें सबसे बड़ी मांगें MSP पर कानूनी गारंटी के लिए कमेटी बनाना और किसानों पर दर्ज केस वापस लेना है। किसानों का कहना था कि पहले इन पर फैसला होना चाहिए, फिर पीएम को पंजाब आना चाहिए। हालांकि इस पर अब किसानों और केंद्र सरकार के बीच सहमति बनती नजर आ रही है।

15 जनवरी को SKM का अगला फैसला

केंद्र सरकार के साथ लंबित मांगों को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा(SKM) की 15 जनवरी को मीटिंग होनी है। जिसमें केंद्र से बनी सहमति के बाद उन पर हुई प्रगति के बारे में विचार किया जाएगा। संभव है कि MSP कमेटी बनाने के लिए उससे पहले ही फैसला ले लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Posts

Other

कंगना रनौत ने जावेद अख्तर द्वारा मानहानि मामले को स्थानांतरित करने की याचिका खारिज करने के अदालत के आदेश को चुनौती दी

ड अभिनेत्री कंगना रनौत ने अदालत के उस आदेश को चुनौती दी, जिसमें जावेद अख्तर के मानहानि मामले को स्थानांतरित करने की याचिका को

Other

अलीगढ़ रेलवे स्टेशन पर बढ़ाई सतर्कता, चलाया चेकिग अभियान

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : गणतंत्र दिवस को लेकर आरपीएफ एवं जीआरपी ने रविवार माकड्रिल के साथ स्टेशन सर्कुलेटिग एरिया में सघन चेकिग अभियान चलाया। दोपहर

Other

डीएलएड प्रशिक्षुओं ने रिजल्ट के लिए चलाया ट्विटर कैंपेन, कहा- शिक्षा विभाग के आदेश को बिहार बोर्ड कर रहा अवहेलना

बिहार के डीएलएड सत्र 2020-22 एवं 2019-21 के क्रमशः प्रथम वर्ष एवं द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षुओं ने रविवार को एक बार फिर सोशल मीडिया पर

Other

जय हिंद यूथ फाउंडेशन के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभा का आयोजन

 जय हिंद यूथ फाउंडेशन के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभा का आयोजन बिथान प्रखंड के उजान पंचायत में किया गया। जिसमें