Trending News

पंजाब में डराने लगा कोरोना:पटियाला समेत 6 जिलों में फैलने लगी महामारी; एक दिन में 4 मौत और 1,811 मरीज मिलने से दहशत

Other

पंजाब में अब कोरोना की महामारी डराने लगी है। पटियाला के बाद पंजाब के 5 बड़े जिलों मोहाली, लुधियाना, जालंधर, पठानकोट और अमृतसर में महामारी फैलने लगी है। बुधवार को एक ही दिन में 4 मरीजों की मौत और 1,811 लोगों के चपेट में आने से राज्य में दहशत फैल गई है। पंजाब में हालात इस कदर बिगड़ रहे हैं कि पॉजीटिविटी रेट भी 7.95% तक पहुंच चुका है। वहीं, पंजाब में अब ओमिक्रॉन के 7 केस हो गए हैं।

www.newsreportinglive.com/Delhi News Live: 31,498 active cases, positivity rate at 15.34%; 1,091 of 12,580 dedicated Covid beds occupied

बड़े जिलों में बिगड़े हालात

पटियाला में 598 नए मरीज मिले। वहीं, चंडीगढ़ से सटे वीआईपी जिले मोहाली में 300, लुधियाना में 203, जालंधर में 183, पठानकोट में 163 और अमृतसर में 105 कोरोना मरीज मिले हैं। अमृतसर में DC गुरप्रीत सिंह खैहरा, निगम कमिश्नर संदीप ऋषि, पटियाला के DC संदीप हंस, ADC गुरप्रीत थिंद भी पॉजिटिव आए। इसके अलावा फतेहगढ़ साहिब, गुरदासपुर, होशियारपुर और बठिंडा में भी कोरोना गति पकड़ने लगा है।

कोरोना के बढ़ते देख लगाई गई यह पाबंदियां…

4 मरीजों की मौत, 69 मरीज लाइफ सेविंग सपोर्ट पर

पंजाब में चिंताजनक हालात यह हैं कि बुधवार को बरनाला, फरीदकोट, जालंधर और मुक्तसर में 1-1 मरीज ने कोरोना से दम तोड़ दिया। वहीं, एक मरीज को वैंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया। पंजाब में कुल 69 मरीज लाइफ सेविंग सपोर्ट पर जा चुके हैं। जिनमें 53 ऑक्सीजन, 14 ICU और 2 वैंटिलेट पर हैं।

पंजाब में ओमिक्रॉन के 7 मामले

पंजाब में अब कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के 7 मामले हो चुके हैं। इनमें जालंधर और पटियाला से 2-2 और मोगा, तरनतारन, नवांशहर से 1-1 ओमिक्रॉन केस आ चुका है। फतेहगढ़ साहिब से जुड़ा एक ओमिक्रॉन केस सामने आया था लेकिन उसके दिल्ली एयरपोर्ट से सीधे हिमाचल प्रदेश जाने की वजह से उसे पंजाब के खाते में नहीं जोड़ा गया है।

टेस्टिंग बढ़ाते ही बेनकाब होती महामारी

पंजाब सरकार ने चुनावी रैलियों की वजह से टेस्टिंग 30 हजार से घटाकर 10 हजार कर दिए थे। जिसकी वजह से महामारी का पता नहीं चल रहा था। कोरोना मरीजों के आंकड़े को 100 के आसपास रखा जा रहा था। हालांकि जब इसकी पोल खुली तो सरकार ने टेस्टिंग बढ़ा दी। बुधवार को भी टेस्टिंग का आंकड़ा 22 हजार के करीब पहुंचा तो कोरोना मरीजों के आंकड़े तेजी से बढ़ने लगे।

PM की सुरक्षा में चूक पर पंजाब कांग्रेस दो फाड़:मंत्री राणा बोले-कैबिनेट मीटिंग बुलाएं CM; भाजपा गवर्नर से बोली- DGP- गृहमंत्री को बर्खास्त करें

https://www.bhaskar.com/local/chandigarh/news/narendra-modi-security-leak-punjab-punjab-bjp-met-governor-congress-split-in-punjab-129276399.html?ref=inbound_More_News

पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले में पंजाब कांग्रेस दो फाड़ हो चुकी है। पहले पूर्व प्रदेश प्रधान और कैंपेन कमेटी के चेयरमैन सुनील जाखड़ ने इस पर सवाल उठाए। उसके बाद पंजाब सरकार में मंत्री राणा गुरजीत ने CM चरणजीत चन्नी को कैबिनेट मीटिंग बुलाने की मांग की है। फिरोजपुर से विधायक परमिंदर पिंकी ने इसके लिए DGP को जिम्मेदार ठहरा दिया।

उधर, प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा के नेतृत्व में भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मिलने राजभवन पहुंच गया है। इसके बाद शर्मा ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक कांग्रेस प्रायोजित षड़यंत्र था। उन्होंने गवर्नर से मिलकर गृह मंत्री और डीजीपी को बर्खास्त करने की मांग की।

मंत्री और अफसर साथ क्यों नहीं गए, PM रूट की सूचना किसने लीक की

पीएम के स्वागत के लिए CM और 2 डिप्टी CM नहीं आए। वित्तमंत्री मनप्रीत बादल आए लेकिन पीएम के काफिले में साथ नहीं गए। इसके अलावा चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी भी पीएम के काफिले में नहीं थे। इससे साफ पता चलता है कि सब कुछ पूर्व नियोजित था। पीएम का काफिला वहां से गुजरेगा, इसके बारे में किसने सूचना लीक की।

चीफ सेक्रेटरी और DGP की क्लियरेंस के बाद काफिला वहां से निकला

भाजपा के पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा ने कहा कि जब चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी ने क्लियरेंस दी कि रोड से जा सकते हैं तो काफिला निकला। उन्होंने कहा कि पीएम के आने से एक दिन पहले मॉक ड्रिल की गई होगी। जिस प्रकार पीएम का काफिला 20 मिनट रुका और उसके बाद वापस लौटा, यहां से पता चलता है कि पंजाब सरकार किस तरह पीएम की सुरक्षा को लेकर नॉन सीरियस थी। हमने राज्यपाल से यह भी मांग की है कि गृह मंत्री और डीजीपी को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए।

जनता ही नकार चुकी, राष्ट्रपति शासन की मांग नहीं की

राष्ट्रपति शासन के मामले पर शर्मा ने कहा कि इस सरकार को जनता पहले ही बर्खास्त कर चुकी है। 4-5 दिन का समय और बचा हुआ है। जिसे जनता ने नकार दिया, अब जनता ही उसे बर्खास्त करेगी। ऐसा हमारा मानना है। कांग्रेस ने पहले भी पंजाब को आतंकवाद में झोंका था। पंजाब को आग लगाकर कांग्रेस राजनीतिक रोटियां सेंकना चाहती है। हम इस कमेटी को खारिज करते हैं। मुख्यमंत्री सरगना है। उनके द्वारा बनाई कमेटी क्या जांच रिपोर्ट देगी।

पंजाब सरकार की छवि खराब हुई: मंत्री राणा गुरजीत
पंजाब की कांग्रेस सरकार में टेक्निकल एजुकेशन मंत्री राणा गुरजीत ने कहा कि देश के PM किसी भी पार्टी के हों, उनका अपमान नहीं होना चाहिए था। लोग इकट्‌ठे हों या न हों, यह उनकी पार्टी का मुद्दा है, लेकिन PM का रास्ता रोका जाना गलत है। उन्होंने कहा कि DGP और गृह मंत्री को यह प्रबंध करने थे। PM को सेफ और वैकल्पिक रूट रखना चाहिए था। इस मामले में सुरक्षा में चूक की जिम्मेदारी फिक्स होनी चाहिए। इससे पंजाब सरकार की छवि खराब हुई है। CM को कैबिनेट मीटिंग बुलाकर इस बारे में बात करनी चाहिए।

DGP को यहां कैंप करना था, वह जिम्मेदार, एक्शन लें CM : कांग्रेस MLA पिंकी
विधायक परमिंदर पिंकी ने कहा कि किसानों का विरोध ठीक है, लेकिन DGP का फर्ज था कि उनको अलग रूट देते। PM का कार्यक्रम होता है तो DGP को वहां रहना पड़ता है। अब फरीदकोट और फिरोजपुर के SSP को सस्पेंड करने की बात हो रही है। इसके लिए DGP जिम्मेदार हैं। CM को टाइम बाउंड जांच करवाकर कार्रवाई करनी चाहिए। प्रधानमंत्री किसी एक पार्टी का नहीं बल्कि पूरे देश का होता है।

गृह मंत्रालय ने मांगी है रिपोर्ट
PM नरेंद्र मोदी बुधवार को फिरोजपुर में चुनाव रैली को संबोधित करने जा रहे थे। रैली की जगह से करीब 8 किलोमीटर दूर एक फ्लाईओवर पर PM का काफिला रोकना पड़ा। जहां करीब वह 20 मिनट तक खड़े रहे। जहां PM रुके, वो जगह पाकिस्तान सीमा से कुछ किमी की दूरी पर ही स्थित है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी कहा कि इस बारे में रिपोर्ट मांगी गई है। ऐसी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जा सकती और इसमें जवाबदेही तय होगी।

CM चन्नी ने चूक से इनकार किया
CM चरणजीत चन्नी ने किसी तरह की सुरक्षा चूक से इनकार किया। उन्होंने कहा कि PM को हवाई मार्ग से जाना था। फिर अचानक प्रोग्राम बदलकर सड़क मार्ग से कर दिया गया। CM ने कहा कि PM पर कोई हमला नहीं हुआ। चन्नी ने उलटा तंज कसा कि 70 हजार कुर्सियां लगाईं, लेकिन सिर्फ 700 लोग आए, जिसकी वजह से रैली रद्द की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Posts

Other

कंगना रनौत ने जावेद अख्तर द्वारा मानहानि मामले को स्थानांतरित करने की याचिका खारिज करने के अदालत के आदेश को चुनौती दी

ड अभिनेत्री कंगना रनौत ने अदालत के उस आदेश को चुनौती दी, जिसमें जावेद अख्तर के मानहानि मामले को स्थानांतरित करने की याचिका को

Other

अलीगढ़ रेलवे स्टेशन पर बढ़ाई सतर्कता, चलाया चेकिग अभियान

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : गणतंत्र दिवस को लेकर आरपीएफ एवं जीआरपी ने रविवार माकड्रिल के साथ स्टेशन सर्कुलेटिग एरिया में सघन चेकिग अभियान चलाया। दोपहर

Other

डीएलएड प्रशिक्षुओं ने रिजल्ट के लिए चलाया ट्विटर कैंपेन, कहा- शिक्षा विभाग के आदेश को बिहार बोर्ड कर रहा अवहेलना

बिहार के डीएलएड सत्र 2020-22 एवं 2019-21 के क्रमशः प्रथम वर्ष एवं द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षुओं ने रविवार को एक बार फिर सोशल मीडिया पर

Other

जय हिंद यूथ फाउंडेशन के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभा का आयोजन

 जय हिंद यूथ फाउंडेशन के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभा का आयोजन बिथान प्रखंड के उजान पंचायत में किया गया। जिसमें