Trending News

चंडीगढ़: 15 से 18 साल के किशोरों का टीकाकरण शुरू, नौ बजे से पहले ही लगी लाइनें, ऋषिता को लगा पहला टीका

Other

तीसरी लहर के खतरे के बीच आज से 15 से 18 साल के बच्चों को कोवैक्सीन की पहली खुराक लगाई जा रही है। इसके लिए शहर में 10 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। जहां सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक आने वाले लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने इस आयु वर्ग के 72000 बच्चों को चिन्हित किया है।

www.newsreportinglive.com

विस्तार

कोरोना को मात देने के लिए सोमवार से चंडीगढ़ में 15 से 18 साल के किशोरों का टीकाकरण शुरू किया गया है। खुद को सुरक्षा कवच देने के लिए बच्चों में खास उत्साह नजर आ रहा है। विशेष बात यह है कि शहर में बनाए गए 10 टीकाकरण केंद्र पर वेक्सीनेटर और डॉक्टर से पहले बच्चे पहुंच गए हैं। सभी को टीका लगवाने की जल्दी है।

जीएमएसएच 16 में 9 बजकर 5 मिनट पर नयागांव की ऋषिता को टीका लगाया गया।  टीका लगवाने के बाद वह बेहद खुश नजर आई। उनका कहना है कि कोरोना से  बचाव के लिए अब उन्हें सुरक्षा कवच मिल गया है। टीका लगवाने आई सेक्टर 27 की स्नेह और खुड्डा अलीशेर के आर्यन का कहना है कि उन्हें बहुत दिनों से टीका लगवाने का इंतजार था। उन्होंने इसके लिए सरकार को धन्यवाद दिया और कहा कि वह खुद तो टीका लगवाने आए हैं साथ ही अपने दोस्तों को भी इसके लिए जागरुक कर रहे हैं, ताकि जल्द से जल्द उनकी उम्र के सभी बच्चे टीका लगाकर सुरक्षित हो जाएं। 

विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों के टीके को लेकर अब तक किए गए ट्रायल और शोध से एक बात साफ हो चुकी है कि यह संक्रमण से बचाव में बेहद कारगर है और इसका नुकसान ना के बराबर है। वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग ने अनहोनी की आशंका को ध्यान में रखते हुए जीएमसीएच 32 में विशेषज्ञों की कमेटी बनाई है। जहां टीका लगने के बाद किसी भी तरह की परेशानी होने पर लाभार्थी को शिफ्ट किया जाएगा। वहीं टीकाकरण केंद्र पर टीका लगवाने के बाद लाभार्थियों को तय मानक के अनुसार 30 मिनट तक ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा। 

लगातार जारी है पंजीकरण

निदेशक स्वास्थ्य डॉ सुमन सिंह ने बताया कि ऑनलाइन पंजीकरण के लिए 15 जनवरी तक स्लॉट ओपन रखा जाएगा। 1 और 2 जनवरी को मिलाकर दो हजार से ज्यादा बच्चों के पंजीकरण हो चुके हैं। 3 जनवरी की बुकिंग फुल हो जाने के बाद ऑटोमेटिक 4 जनवरी के लिए पंजीकरण होने लगेगा। यह सिलसिला क्रमवार 15 जनवरी तक चलेगा। पोर्टल पर हुवे पंजीकरण के अनुसार तय किए गए समय, दिन और स्थान पर संबंधित बच्चे का टीकाकरण किया जाएगा। डॉ सुमन ने बताया कि शहर में बनाए गए 10 केंद्रों पर प्रतिदिन दो सौ बच्चों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। डॉ सुमन का कहना है कि फिलहाल पंजीकृत बच्चों की संख्या के बारे में जानकारी ना होने के कारण 200 का लक्ष्य रखा गया है। जैसे-जैसे संख्या बढ़ेगी वैसे-वैसे लक्ष्य भी बढ़ाया जाएगा।

इन अस्पतालों में लग रहा टीका
पीजीआईएमईआर, जीएमसीएच-32, जीएमएसएच-16, सिविल अस्पताल मनीमाजरा, सिविल अस्पताल सेक्टर-22, सिविल अस्पताल सेक्टर 45।
इन स्कूलों में लग रहा टीका
गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल धनास, गवर्नमेंट मॉडल हाईस्कूल मलोया, गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल मनीमाजरा।
लड़कियों के लिए एक अलग केंद्र
लड़कियों के लिए सेक्टर 20 बी स्थित गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।
घबराएं नहीं इसका रखें ध्यान
बालरोग विशेषज्ञ डॉ गुंजन बवेजा का कहना है कि बच्चे को टीका लगवाने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि उसने सही से भोजन किया हो। खाली पेट वैक्सीन लगवाने से बचना चाहिए। यह भी ध्यान रखें कि बच्चे ने रातभर अच्छी नींद ली हो। साथ ही उसको तेज बुखार या उल्टी दस्त न हो।

बच्चों को वैक्सीन लगने के बाद उन्हें बुखार, टीका लगने वाले हाथ में दर्द या सूजन आना आम बात है। अधिकतर मामलों में बुखार एक दिन में ही उतर जाता है। इसको लेकर घबराना नहीं चाहिए। टीकाकरण के बाद यह सब लक्षण आम बात है। अगर बच्चे को एलर्जी के गंभीर लक्षण दिख रहे हैं, बुखार काफी तेज हो रहा है जो लगातार बना हुआ है या चक्कर आ रहे हैं तो इस स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें। जब भी बच्चे को टीका लगवाएं  कम से कम आधा घंटा टीकाकरण केंद्र में ही रहें।

कोविड प्रोटोकॉल का पालन जरूरी

डॉ. गुंजन का कहना है कि वैक्सीन लगने के बाद भी बच्चों को कोविड से बचाव के नियमों का पालन करना होगा। बच्चों को यह समझना होगा कि टीका लगने से संक्रमण का खतरा कम हुआ है, लेकिन ऐसा नहीं है की इसे उन्हें कभी कोरोना नहीं होगा। अभिभावक इसे लेकर बच्चों को जागरूक करें। 
टीकाकरण को लेकर बच्चों में खासा उत्साह नजर आ रहा है। यह बहुत ही सकारात्मक संकेत है। स्वास्थ्य विभाग ने बच्चों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी टीकाकरण केंद्रों पर समुचित व्यवस्था की है। हम बच्चों से अपील करते हैं कि जल्द से जल्द जी का लगवा कर मुझे सुरक्षित हो जाएं। -डॉ सुमन सिंह, निदेशक स्वास्थ्य

लुधियाना

Read more: https://www.amarujala.com/punjab/ludhiana/ludhiana-court-blast-accused-gagandeep-singh-had-been-spotted-in-sukhbir-badal-rally?src=story-related-auto

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Posts

Other

कंगना रनौत ने जावेद अख्तर द्वारा मानहानि मामले को स्थानांतरित करने की याचिका खारिज करने के अदालत के आदेश को चुनौती दी

ड अभिनेत्री कंगना रनौत ने अदालत के उस आदेश को चुनौती दी, जिसमें जावेद अख्तर के मानहानि मामले को स्थानांतरित करने की याचिका को

Other

अलीगढ़ रेलवे स्टेशन पर बढ़ाई सतर्कता, चलाया चेकिग अभियान

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : गणतंत्र दिवस को लेकर आरपीएफ एवं जीआरपी ने रविवार माकड्रिल के साथ स्टेशन सर्कुलेटिग एरिया में सघन चेकिग अभियान चलाया। दोपहर

Other

डीएलएड प्रशिक्षुओं ने रिजल्ट के लिए चलाया ट्विटर कैंपेन, कहा- शिक्षा विभाग के आदेश को बिहार बोर्ड कर रहा अवहेलना

बिहार के डीएलएड सत्र 2020-22 एवं 2019-21 के क्रमशः प्रथम वर्ष एवं द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षुओं ने रविवार को एक बार फिर सोशल मीडिया पर

Other

जय हिंद यूथ फाउंडेशन के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभा का आयोजन

 जय हिंद यूथ फाउंडेशन के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सभा का आयोजन बिथान प्रखंड के उजान पंचायत में किया गया। जिसमें