हिमाचल के 260 परीक्षा केंद्रों में होगी एचएएस की प्रारंभिक परीक्षा

Published by Razak Mohammad on

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला

Updated Sat, 12 Sep 2020 06:26 PM IST

हिमाचल लोकसेवा आयोग
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹365 & To get 20% off, use code: 20OFF

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश राज्य प्रशासनिक सेवा (एचएएस) की प्रारंभिक परीक्षा दो चरणों में रविवार को प्रदेश के 260 केंद्रों में होगी। 48375 अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा देंगे। किन्नौर और लाहौल स्पीति जिले के अलावा प्रदेश के दस जिलों के 40 उपमंडलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा सुबह दस से बारह और दोपहर दो से चार बजे तक होगी। अभ्यर्थी परीक्षा के समय से एक घंटा पहले केंद्र में आ सकते हैं।

परीक्षा शुरू होने से दस मिनट पहले तक एंट्री दी जाएगी। परीक्षाओं के सफल आयोजन को उपमंडल अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाया गया है। आयोग सचिव आशुतोष गर्ग ने बताया कि परीक्षा को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर दी हैं। कोरोना संकट को देखते हुए आयोग पहली बार उपमंडल स्तर पर एचएएस परीक्षा ले रहा है। आयोग अभी तक एचएएस परीक्षाएं प्रदेश में दो से तीन शहरों में ही लेता रहा है। इस साल कोरोना संकट के चलते व्यवस्था में बदलाव लाना पड़ा है। इससे अभ्यर्थियों को घरों के पास परीक्षा केंद्र भी मिल जाएंगे।

बाहरी राज्यों से आने वाले अभ्यर्थियों के लिए बॉर्डर क्षेत्रों में केंद्र बनाए गए हैं। आयोग के सचिव आशुतोष गर्ग ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की एसओपी के तहत परीक्षाएं ली जाएंगी। मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा। अभ्यर्थियों के बीच उचित दूूरी रखी जाएगी। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही एंट्री दी जाएगी। बिलासपुर में एक कोरोना पॉजिटिव और शिमला में संक्रमित का संपर्क भी परीक्षा देगा। दोनों जगह विशेष बंदोबस्त किए गए हैं। बुखार, जुकाम और सर्दी के लक्षण वाले अभ्यर्थी अलग से बैठाए जाएंगे।

17 से 24 नवंबर तक होगी मुख्य परीक्षा

 एचएएस की मुख्य परीक्षा 17 से 24 नवंबर के बीच में होगी। राज्य लोकसेवा आयोग ने मुख्य परीक्षा की संभावित तारीख तय कर दी है। 22 और 23 नवंबर को परीक्षा नहीं होगी। इसके अलावा स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट (सेट) की ऑफलाइन परीक्षा 22 नवंबर को होगी।

हिमाचल प्रदेश राज्य प्रशासनिक सेवा (एचएएस) की प्रारंभिक परीक्षा दो चरणों में रविवार को प्रदेश के 260 केंद्रों में होगी। 48375 अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा देंगे। किन्नौर और लाहौल स्पीति जिले के अलावा प्रदेश के दस जिलों के 40 उपमंडलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा सुबह दस से बारह और दोपहर दो से चार बजे तक होगी। अभ्यर्थी परीक्षा के समय से एक घंटा पहले केंद्र में आ सकते हैं।

परीक्षा शुरू होने से दस मिनट पहले तक एंट्री दी जाएगी। परीक्षाओं के सफल आयोजन को उपमंडल अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाया गया है। आयोग सचिव आशुतोष गर्ग ने बताया कि परीक्षा को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर दी हैं। कोरोना संकट को देखते हुए आयोग पहली बार उपमंडल स्तर पर एचएएस परीक्षा ले रहा है। आयोग अभी तक एचएएस परीक्षाएं प्रदेश में दो से तीन शहरों में ही लेता रहा है। इस साल कोरोना संकट के चलते व्यवस्था में बदलाव लाना पड़ा है। इससे अभ्यर्थियों को घरों के पास परीक्षा केंद्र भी मिल जाएंगे।

बाहरी राज्यों से आने वाले अभ्यर्थियों के लिए बॉर्डर क्षेत्रों में केंद्र बनाए गए हैं। आयोग के सचिव आशुतोष गर्ग ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की एसओपी के तहत परीक्षाएं ली जाएंगी। मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा। अभ्यर्थियों के बीच उचित दूूरी रखी जाएगी। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही एंट्री दी जाएगी। बिलासपुर में एक कोरोना पॉजिटिव और शिमला में संक्रमित का संपर्क भी परीक्षा देगा। दोनों जगह विशेष बंदोबस्त किए गए हैं। बुखार, जुकाम और सर्दी के लक्षण वाले अभ्यर्थी अलग से बैठाए जाएंगे।

17 से 24 नवंबर तक होगी मुख्य परीक्षा
 एचएएस की मुख्य परीक्षा 17 से 24 नवंबर के बीच में होगी। राज्य लोकसेवा आयोग ने मुख्य परीक्षा की संभावित तारीख तय कर दी है। 22 और 23 नवंबर को परीक्षा नहीं होगी। इसके अलावा स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट (सेट) की ऑफलाइन परीक्षा 22 नवंबर को होगी।

Source link


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *