सैलानियों की कोरोना रिपोर्ट जांचने से होटल एसोसिएशन ने इंकार किया

Shimla News


अमर उजाला नेटवर्क, शिमला

द्वारा प्रकाशित: अरविंद ठाकुर
अपडेटेड सत, 17 अप्रैल 2021 02:57 पूर्वाह्न IST

सार

पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राज्य और उत्तर प्रदेश से आने वाले सैलानियों की 72 घंटे पहले तक की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट होटलों में जांचने के सरकार के निर्देशों से शिमला होटल और रेस्टोरेंट एसोसिएशन ने इंकार कर दिया है। एसोसिएशन का तर्क है कि उनके पास मेडिकल रिपोर्ट की जांच के लिए स्टाफ स्टाफ नहीं है। ऐसे में सरकार को अपने स्तर पर ही इसकी व्यवस्था करनी चाहिए।

ख़बर सुनना

पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राज्य और उत्तर प्रदेश से आने वाले सैलानियों की 72 घंटे पहले तक की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट होटलों में जांचने के सरकार के निर्देशों से शिमला होटल और रेस्टोरेंट एसोसिएशन ने इंकार कर दिया है। एसोसिएशन का तर्क है कि उनके पास मेडिकल रिपोर्ट की जांच के लिए स्टाफ स्टाफ नहीं है। ऐसे में सरकार को अपने स्तर पर ही इसकी व्यवस्था करनी चाहिए।

एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सूद का कहना है कि हमारा काम सैलानियों की सेवा करना है, जहां तक ​​विभाजित निगेटिव रिपोर्ट की जांच का सवाल है तो इसमें गड़बड़ी की भी आशंका है। पिछले साल बहुत से मामले फर्जी निगेटिव रिपोर्ट के सामने आए थे। पैसे देकर बड़े शहरों में लोग अरब से फर्जी रिपोर्ट भी तैयार कर रहे थे। ऐसे में फर्जी रिपोर्ट के साथ टूरिस्ट होटल में पहुंचते हैं तो इसका विरोध करना होटल स्टाफ के लिए संभव नहीं है। होटल एसोसिएशन ने मांग उठाई है कि होटल में आने वाला तुरिस्ट अगर अस्वस्थ लगता है तो उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजने की सरकार को चाहिए।

राहत के नाम पर दिखावा कर रही सरकार
होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन का कहना है कि कोविड काल में पर्यटन व्यवसायियों को राहत देने के नाम पर सरकार महज दिखावा कर रही है। बीते साल लॉकडाउन के बावजूद शहर के होटलों को लाखों रुपये के बिजली, पानी के बिल जारी किए गए हैं।

नए निर्देश के बाद शिमला के होटल खाली
बाहरी राज्यों से आने वाले सैलानियों के लिए को विभाजित निगेटिव रिपोर्ट के साथ लाने की एडवाइजरी लागू होने के बाद राजधानी शिमला में सैलानियों की आमद बहुत कम हो गई है। शुक्रवार को शहर के ज्यादातर होटल खाली पड़े हैं। ऑक्यूपेंसी महज 5 से 10 प्रति रही। बाजार में सैलानी नहीं दिखे, पर्यटन स्थल भी वीरान रहे। संजय सूद ने बताया कि इस वीकेंड के लिए एडवांस बुकिंग जीरो है। सैलानियों के आने की कोई उम्मीद नहीं है।

विस्तार

पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राज्य और उत्तर प्रदेश से आने वाले सैलानियों की 72 घंटे पहले तक की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट होटलों में जांचने के सरकार के निर्देशों से शिमला होटल और रेस्टोरेंट एसोसिएशन ने इंकार कर दिया है। एसोसिएशन का तर्क है कि उनके पास मेडिकल रिपोर्ट की जांच के लिए स्टाफ स्टाफ नहीं है। ऐसे में सरकार को अपने स्तर पर ही इसकी व्यवस्था करनी चाहिए।

एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सूद का कहना है कि हमारा काम सैलानियों की सेवा करना है, जहां तक ​​विभाजित निगेटिव रिपोर्ट की जांच का सवाल है तो इसमें गड़बड़ी की भी आशंका है। पिछले साल बहुत से मामले फर्जी निगेटिव रिपोर्ट के सामने आए थे। पैसे देकर बड़े शहरों में लोग अरब से फर्जी रिपोर्ट भी तैयार कर रहे थे। ऐसे में फर्जी रिपोर्ट के साथ टूरिस्ट होटल में पहुंचते हैं तो इसका विरोध करना होटल स्टाफ के लिए संभव नहीं है। होटल एसोसिएशन ने मांग उठाई है कि होटल में आने वाला तुरिस्ट अगर अस्वस्थ लगता है तो उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजने की सरकार को चाहिए।

राहत के नाम पर दिखावा कर रही सरकार

होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन का कहना है कि कोविड काल में पर्यटन व्यवसायियों को राहत देने के नाम पर सरकार महज दिखावा कर रही है। बीते साल लॉकडाउन के बावजूद शहर के होटलों को लाखों रुपये के बिजली, पानी के बिल जारी किए गए हैं।

नए निर्देश के बाद शिमला के होटल खाली

बाहरी राज्यों से आने वाले सैलानियों के लिए को विभाजित निगेटिव रिपोर्ट के साथ लाने की एडवाइजरी लागू होने के बाद राजधानी शिमला में सैलानियों की आमद बहुत कम हो गई है। शुक्रवार को शहर के ज्यादातर होटल खाली पड़े हैं। ऑक्यूपेंसी महज 5 से 10 प्रति रही। बाजार में सैलानी नहीं दिखे, पर्यटन स्थल भी वीरान रहे। संजय सूद ने बताया कि इस वीकेंड के लिए एडवांस बुकिंग जीरो है। सैलानियों के आने की कोई उम्मीद नहीं है।





Source link

himachal news in hindi नवीनतम हिमाचल प्रदेश समाचार हिंदी में शिमला होटल रेस्टोरेंट एसोसिएशन हिमाचल प्रदेश पर्यटन कोविद दिशानिर्देश हिंदी में हिमाचल प्रदेश समाचार हिंदी में हिमाचल प्रदेश हिंदी समचार हिमाचल समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Shimla News

शिमला समाचार आज १४ मई: शिमला समाचार | सिटा शहर की तात्कालिक खबरें

शिमला समाचार आज १४ मई: शिमला समाचार | संता शहर की ताम्रयुगीन खबरें | शहर और राज्य पॉडकास्ट

इंटरनेट के आधार पर इंटरनेट

Shimla News

बैठक मीटिंग:

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला

द्वारा प्रकाशित: कृष्ण सिंह
अपडेटेड शुक्र, 14 मई 2021 10:50 AM IST

सार
प्रदेश में वर्तमान में कर्फ्यू लागू होने के बाद

Shimla News

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए शिक्षक सहित ये कर्मचारी पंक्ति के कार्यकर्ता की श्रेणी में शामिल हैं

{“_id”:”609e75931700a36aaf077864″,,”slug”:”नौ-श्रेणियों-के-कर्मचारियों-सहित-शिक्षकों-शामिल-के रूप में-फ्रंट-लाइन-कार्यकर्ता-के लिए-कोरोना-टीकाकरण”, “प्रकार”:” कहानी”, “स्थिति”: “प्रकाशित करें”, “शीर्षक_एचएन”: “u0915u094bu0930u094bu0928u093e u0935u0948u0915u094du0938u0940u0928u0947u0936u0928 u0915 u0947 u0932u093fu090f u0936u093fu0915u094du0937u0915 u0938u092eu0947u0924 u092fu0947 u0915u0930u0940 u094du092eu091au0930 u0917u094du0930u093fu092e u092au0902u0915u094du0924u093f u0915u0947 u0915u093eu0930u094du092fu0915u0930u093e

Shimla News

मच्छयाल मोक्षधाम में टाइप शव के संस्कार के विरोध पर गेट कर दिया बंद

अमर उजाला नेटवर्क, जोगिंद्रनगर (मंडी)

द्वारा प्रकाशित: अरविंद ठाकुर
अपडेट किया गया शुक्र, 14 मई 2021 05:53 PM IST

सर
मच्छैयाल मोक्षधाम में कोरोना मृतक पूर्व