सुमेर सिंह केस फाइलें समीक्षा: सुमेर सिंह केस फाइल्स, आयडिया में दम है … लेकिन

Entertainment News


सुमेर सिंह केस फाइलें समीक्षा: एक कड़क पुलिस वाले को लेकर अभी तक कोई अच्छी वेब सीरीज देखने की इच्छा हो तो वुत पर आप ‘सुमेर सिंह केस फाइल्स के 2 सीजन (सुमेर सिंह केस फाइल सीजन 2) देख सकते हैं। सभी लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं तो ये एक थ्रिलिंग वेब सीरीज है जो पूरी तरह से हिंदी में है, भारतीय परिवेश में है और इसकी चोरी भी ठीक ठाक है। रात को खाना खाने के बाद, आप इसे अपने बेडरूम में देख सकते हैं। सुमेर सिंह केस फाइल्स (सुमेर सिंह केस फाइल), जैसा की नाम से प्रकट है, एसीपी सुमेर सिंह द्वारा हैंडल किए गए केस की फाइल्स की कहानी है। पहला सीज़न, 22 मिनिट्स के 13 सेज़ में बांटा गया है। इस सीजन की केस फाइल में काशिकी की है। इस सीजन के लेखक ने नमित शर्मा जो टीवी में काफी सालों से काम कर रहे हैं और शांतनु श्रीवास्तव जिनकी लिखी फिल्म “बधाई हो” बहुत सफल हुई थी। सुमेर सिंह केस फाइल्स का कॉन्सेप्ट तेजी है लेकिन लेखक द्वय इसे ठीक से भुनाने से थोड़ा चूक गए। 13 चरण की वेब श्रृंखला ज़रा लम्बी हो गयी और एसीपी सुमेर सिंहने इस पूरी श्रृंखला में कोई तीर नहीं मारा जबकि उनका नाम पर पूरी श्रृंखला रची गयी है। कहानी 5 ऐसे दोस्तों की है जो रहते हैं अहमदाबाद में हैं, लेकिन हरकतें मुंबई में करते हैं। पैसा कहीं न कहीं से आ ही जाता है और 5 दोस्त सिवाय अय्याशी करने और पार्टी करने के कुछ और करते नज़र नहीं आते। सब अलग अलग बैकग्राउंड से हैं और रहते भी बहुत अलग हैं लेकिन दैनिक कैसे मिल लेते हैं, ये समझ में नहीं आता है। हर दोस्त की अपनी एक कहानी है, एक सीक्रेट है और ये सीक्रेट दर्शकों को तब समझ में आता है जब एक नए दोस्त “कौशिकी” की एंट्री होती है। इसके आने के बाद सभी दोस्तों के बीच के समीकरण बदलने शुरू होते हैं और एक पल ऐसा आता है कि काशिकी इन दोस्तों की एक पार्टी से गायब हो जाता है। केस सॉल्व करने के लिए बुलाया जाता है एसीपी सुमेर सिंह को जो कि बगैर कुछ खास मेहनत की, इस केस की परतें खोल के रख देते हैं। दोषियों को सजा होती है। कौशिकी भी ज़िंदा लौट आती है। मुख्य भूमिका में रणविजय सिंघा (एसीपी सुमेर सिंह), सायानी गुप्ता (कौशिकी), ओंकार कपूर (अंकुश पटेल उर्फ़ मैगी) और नमित दास (डीके) हैं। कहानी में संभावनाएं बहुत थीं। अभी तक एक पुलिस अधिकारी को केंद्र में रख कर कोई म आदेश मिस्त्री या थ्रिलर वेब सीरीज हिंदी में नहीं बनाया गया था इसलिए कहा गया था कि ये ज़रूर दमदार होगा लेकिन जब आप बहुत सारी विदेशी वेब सीरीज का थोड़ा थोड़ा हिस्सा निकाल कर एक नई रेसिपी बनाते हैं तो स्वाद करना हड़ताल करना पड़ता है। सुमेर सिंह मिड सीरीज निकलने तक ही नहीं आते, काशिकी पूरी श्रृंखला में कन्फ्यूजड नज़र आती है, डीके जैसे दोस्तों को हम घर में घुसने नहीं देते हैं लेकिन ये छिछोरा दोस्त, हंसी पाने के इरादे से सिवायप जोक्स के कुछ नहीं सुनाई देती। दो लड़कियां भी इस गैंग में हैं जो छोटे कपडे और छूटे हुए मॉरल्स को अपना वाल्व समझती हैं। एक हॉस्टल में रहने वाला लड़का इस गैंग का हिस्सा है जो कि बिना बात के “मैं तो कहीं भी एडजस्ट कर लूँगा” करने की कोशिश करता रहता है।

रणविजय की पर्सनालिटी ज़रूर कड़क पुलिस वाले की नज़र आती है लेकिन रोडीज़ और स्प्लिट्सविला कर कर के वो अभी भी अपने आप को कॉलेज के सीनियर ही समझते हैं। उन्हें प्रदर्शन में बहुत कुछ सीखना बख्शी है। सायानी घोष इस तरह के कई रोल्स करते आ रहे हैं। चेहरा और आंखें एक्सप्रेसिव हैं लेकिन रोल के चयन में मार खा जाती है। ओंकार कपूर और छछोरे नमित दास पूर्णतय: मिसफिट हैं। ओंकार अपने करोड़पति पिता की उम्मीदों से दुखी हो कर एक लोकल गैंगस्टर के साथ मिल कर ड्रग्स का धंधा करना चाहते हैं, और निहायत अजीब नज़र आते हैं। बाकी किरदारों पर टाइम वेस्ट किया गया है और उनका प्रदर्शन भी औसत दर्ज़े का ही है। पहले सीजन के निर्देशक हैं सुपर्ण वर्मा जो टीवी की कहानियों और फिल्मों के असफल भारतीयकरण करते रहते हैं। यकीन नहीं होता है कि ये वही सुपर्ण वर्मा हैं जिन्होंने मनोज बाजपेयी के साथ “द फामिली मैन” नाम की वेब सीरीज निर्देशित की है। कौशिकी में उनका हुनर ​​निकल कर नहीं आया है और वेब सीरीज लचर बनी हुई है। एसीपी सुमेर सिंह केस फाइल्स का दूसरा सीजन “गर्ल फ्रेंड्स” कहानी के मामले में थोड़ा सा बेहतर है और इसमें रणविजय पूरी श्रृंखला में, सभी 8 सेट्स में नज़र आये हैं। इस बार निर्देशक की कुर्सी पर लेखक नमित शर्मा खुद मौजूद हैं। एसीपी सुमेर सिंह का ट्रांसफर दिल्ली हो जाता है और उन्हें एक अदद गर्लफ्रेंड भी मिल जाता है। इस गर्ल फ्रेंड की कुछ गर्लफ्रेंड होती हैं। ये सभी गर्ल फ्रेंड्स की ज़िन्दगी में कोई न कोई समस्या और न ही कोई राज’ ज़रूर होते हैं। पहले सीज़न की तरह इस सीज़न में भी हरीन लापता हो जाती है। इस मामले को सुलझाने के चक्कर में कई छोटे छोटे सब-प्लॉट्स सुलझाते हुए सुमेर को गर्लफ्रेंड गैंग के हर सदस्य की कहानी सुलझाने को मिलती है। ये इस सीजन की खासियत है। हर गर्लफ्रेंड की कहानी में जो ड्रामा है वह विश्वास करने लायक नहीं है लेकिन पहले सीजन की ही तरह ये भी विदेशी वेब सीरीज की कहानियों के मिश्रण से बनी कहानी है। एसीपी सुमेर सिंह एक एक करके सभी के कच्चे चिट्ठे खोलते जाते हैं और पुराने मोबाइल के फोटो और वीडियोस एमएसट न करने की आदत, दो सहेलियों के बीच एक ही बॉयफ्रेंड, ड्रग्स का बिज़नेस, रेव पार्टी, टूरिस्ट्स का मर्डर जैसी कई कहानियां सामने आती हैं। । हर हफ्ते में एक नया ट्विस्ट आता है और पसंद भी लेकिन लेखक ने कहानियों का मिक्स फ्रूट रायता बनाया है और फिर फैला दिया है। कहानी का सम आने में बहुत समय लगता है, छोटे छोटे किस्सों से देखने वाले का ध्यान मूल कहानी से भटक जाता है।

रणविजय को इस बार ज्यादा रोल मिला है और एलपी के तौर पर स्वानंद किरकिरे को देखने का अपना मज़ा है। बाकी किरदार व्यर्थ हैं क्योंकि उन्हें प्रदर्शन सीखने में काफी समय लगेगा और ग्लैमर के नज़रिये से देखें तो उनसे भी बेहतर कैंडिडेट इंडस्ट्री में मौजूद हैं। करिश्मा शर्मा को हम कपिल शर्मा के शो में कई बार देख चुके हैं और सुपर 30 / रेफड़ा चमन / प्यार का पंचनामा 2 में छोटे रोल्स कर चुके हैं। इस श्रृंखला में रोल बड़ा है लेकिन प्रदर्शन कमज़ोर ही है। बाकी गर्लफ्रेंड्स का उल्लेख नहीं किया जा सकता है। एक छोटे से रोल में रोडीज़ और बिग बॉस वाले सिद्धार्थ ने अच्छा अभिनय किया है लेकिन क्लाइमेक्स आने तक उनका भी दम निकल जाता है। सुमेर सिंह केस फाइल्स के दोनों सीजन, वूट पर उपलब्ध हैं। दोनों ही सीजन थ्रिलर बनाने की कोशिश की गयी है। दोनों सीज़न में किरदार को दिखाया गया है, हमारे आस पास कहीं नज़र नहीं आती है इसलिए उन पर भरोसा नहीं होता है। डीजे स्टाइल रिटिंग करने की वजह से एक अच्छा आयडिया, काल कोठरी में सड़ गया। देख सकते हैं अगर कुछ हिंदी थ्रिलर देखने का मन हो।





Source link

रणविजय सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Entertainment News

डोनेट कर सोनू सूद ने लिखा- ‘मेरी तरफ से आपके लिए ऑक्सीजन, मजबूत बना रहे भारत’

सूद के साथ उनकी टीम लगातार जरूरतमंद लोगों तक मदद पहुंचाने का काम कर रही है। (फोटो साभार: sonu_sood / Instagram) सोनू सूद (सोनू सूद) ने बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन सिलेंडर डोनेट किए हैं। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया है और भारत के मजबूत बने रहने का आह्वान किया है।

Entertainment News

KKK11 में भाग लेंगी निक्की रंगोली, इंस्टाग्राम पर इमोशनल नोट शेयर कर बताई वजह

अपने भाई को चुनने के बाद निक्की रंगोली का हाल बहुत बुरा हो गया। इसके बाद भी उन्होंने खिलाड़ी के 11 में शामिल होने का फैसला किया। (फोटो साभार: nikki_tamboli / इंस्टाग्राम) निक्की आशोली (निक्की तम्बोली) के भाई जतिन जब अस्पताल में एडमिट थे तो निक्की ने उन्हें क्रिकेट के खिलाड़ी 11 (खतरों के खिलाड़ी

Entertainment News

गुंजन सिंह का सुपरहिट भोजपुरी सॉन्ग ‘फ्राक देबौ गे’ रिलीज में ही हुआ वायरल, देखें धमाकेदार वीडियो

गुंजन सिंह का नया गाना वायरल हो रहा है। गुंजन सिंह (गुंजन सिंह) का सुपरहिट भोजपुरी गाना (भोजपुरी सॉन्ग) ‘फ्राक देबौ गे’ (फरक देउ गे) रिलीज हुआ है जो धूम मचा रहा है। गाने को लोग खूब पसंद कर रहे हैं। गाने ने कुछ ही देर में हजारों व्यूज हासिल कर लिए हैं। देखिए वीडियो

Entertainment News

धमाल मचा रहा है अंतरा सिंह प्रियंका का गाना ‘खटिया बिछा के’, मिले 3 मिलियन व्यूज, देखें VIDEM

3 मिलियन व्यूज मिले, देखें वीडियो भोजपुरी सिंगर (भोजपुरी सिंगर) अंतरा सिंह प्रियंका (अंतरा सिंह प्रियंका) का हाल ही में रिलीज़ हुआ गाना ‘खटिया बिछा के’ (खटिया बिछा के) तेजी से वायरल हो रहा है। गाने को सिर्फ तीन दिन में तीन मिलियन से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं। इसे YouTube (Youtube) पर दर्शकों का