शारदाना पंचायत प्रधान की कोरोना से मौत

Solan News


ख़बर सुनना

सुबाथू (सोलन)। शदलाना पंचायत की प्रधान आशा धीमान ने अपने समाजसेवी कार्यों से पंचायत का दिल तो जीता लेकिन कोरोना से लंबी दूरी तय की गई। शुक्रवार को प्रमुख ने आईजीएमसी शिमला में अंतिम सांस ली। उनके निधन की सूचना से पूरी शालिया पंचायत और क्षेत्र के लोग गमगीन हैं। शुक्रवार को एर्केन से बैगई किट में उनके पार्थिव शरीर को सुबाथू के राम बाग में लाया गया।
इस दौरान मृतक आशा धीमान के बेटे ने उन्हें कोरोना नियमों के तहत मुखाग्नि दी। नियमों का पालन कर पंचायत वासियों ने उनकी अंतिम विदाई से दूरी बनाई रखी लेकिन शव यात्रा को दूर से देखा गया। आशा धीमान वर्ष 2010 में पहली बार शरिया पंचायत के प्रमुख बने थे। पंचायत के लोगों ने जनवरी 2021 में फिर उन्हें पंचायत प्रमुख का ताज पहनाया।
उधर, शड़ियाना पंचायत के उपप्रधान हरदेव ठाकुर ने बताया कि वीरवार को हुई बातचीत में प्रधान आशा धीमान ने पंचायत के अधूरे कार्यों को लेकर काफी गंभीर थी। उन्होंने कहा कि पंचायत में दो शमशानघाट बनाने का काम तेजी से करवाना है। पंचायत भवन के लिए एक लाख का बजट कम है। जेई से बात कर उठकर तीन लाख करवाना है। उन्होंने लोगों को संदेश दिया कि महामारी को हल्के में न लें। उन्होंने कहा कि वह हिम्मत हार चुकी हैं, लेकिन लोगों के काम में बाधा नहीं आनी चाहिए।

सुबाथू (सोलन)। शदलाना पंचायत की प्रधान आशा धीमान ने अपने समाजसेवी कार्यों से पंचायत का दिल तो जीता लेकिन कोरोना से लंबी दूरी तय की गई। शुक्रवार को प्रमुख ने आईजीएमसी शिमला में अंतिम सांस ली। उनके निधन की सूचना से पूरी शालिया पंचायत और क्षेत्र के लोग गमगीन हैं। शुक्रवार को एर्केन से बैगई किट में उनके पार्थिव शरीर को सुबाथू के राम बाग में लाया गया।

इस दौरान मृतक आशा धीमान के बेटे ने उन्हें कोरोना नियमों के तहत मुखाग्नि दी। नियमों का पालन कर पंचायत वासियों ने उनकी अंतिम विदाई से दूरी बनाई रखी लेकिन शव यात्रा को दूर से देखा गया। आशा धीमान वर्ष 2010 में पहली बार शरिया पंचायत के प्रमुख बने थे। पंचायत के लोगों ने जनवरी 2021 में फिर उन्हें पंचायत प्रमुख का ताज पहनाया।

उधर, शड़ियाना पंचायत के उपप्रधान हरदेव ठाकुर ने बताया कि वीरवार को हुई बातचीत में प्रधान आशा धीमान ने पंचायत के अधूरे कार्यों को लेकर काफी गंभीर थी। उन्होंने कहा कि पंचायत में दो शमशानघाट बनाने का काम तेजी से करवाना है। पंचायत भवन के लिए एक लाख का बजट कम है। जेई से बात कर उठकर तीन लाख करवाना है। उन्होंने लोगों को संदेश दिया कि महामारी को हल्के में न लें। उन्होंने कहा कि वह हिम्मत हार चुकी हैं, लेकिन लोगों के काम में बाधा नहीं आनी चाहिए।





Source link

सोलन नॉट सोलन न्यूज़ सोलन न्यूज़ टुडे सोलन न्यूज़ हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Solan News

अब थोडो मैदान में हर्पिड एंटोने टेस्ट

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सोलन। स्वास्थ्य विभाग ने थोडो मैदान में पुनर्पिड एंटीजन टेस्ट (रैट) केंद्र शुरू करने का निर्णय लिया है।

Solan News

पुलिस ने मोबाइल चोरों के तीन सदस्य दबोचे

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

बद्दी (सोलन)। पुलिस ने मोबाइल छीनने वाले साम्राज्य के तीन सदस्यों को दबोच लिया है। आरोपी दो दिन

Solan News

रबौं में बनेगा 200 बिस्तर का मेकिशिफ्ट अस्पताल

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सोलन। राधा स्वामी सत्संग केंद्र में प्रारंभिक चरण में 200 बिस्तरों वाला मेकिशिफ्ट अस्पताल तैयार किया जा रहा है।

Solan News

ऑफ़लाइन जमा करवाएं बिजली के बिल

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

नालागढ़ (सोलन)। विद्युत बोर्ड ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उपभोक्ताओं को ऑनलाइन बिल भुगतान का आह्वान

%d bloggers like this: