वाजपेयी को जगमोहन पर अटल भरोसा था: इस कारण से जम्मू-कश्मीर में आज भी याद किया जाता है

Jammu & Kashmir News


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जे

द्वारा प्रकाशित: प्रशांत कुमार
अद्यतित Tue, 04 मई 2021 07:34 PM IST

सार

पूर्व गवर्नर जगमोहन मल्होत्रा ​​के निधन की खबर से ही जम्मू-कश्मीर में शोक की लहर दौड़ गई। उनके व्यक्तित्व और शब्द को यादकर ​​लोगों की आंखें भर आईं। जानिए पूर्व राज्यपाल के कार्यकाल में कुछ महत्वपूर्ण कार्यों के बारे में …

पूर्व राज्यपाल जगमोहन मल्होत्रा
– फोटो: सोशल मीडिया

ख़बर सुनना

कहा जाता है कि जम्मू-कश्मीर में अगर कभी विकास की लहर चली तो वह कार्यकाल पूर्व राज्यपाल जगमोहन मल्होत्रा ​​का था। जम्मू में बना फ्लाईओवर पूर्व राज्यपाल की ही देन है। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड भी उनका भुगतान है। ऐसे ही कई अन्य विकास परियोजनाएं हैं, जो जगमोहन के कार्यकाल में तैयार हुई हैं।

मंगलवार को उनके निधन की सूचना मिलते ही प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई। लोग उनके कार्यकाल में होने वाले कार्यों को याद कर रहे थे। इस दौरान उनकी आंखें भर आईं। बता दें कि 94 साल के जगमोहन मल्होत्रा ​​कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे जिनके बाद दिल्ली में उन्होंने आखिरी सांस ली।

ये भी पढ़ें- कश्मीरी की बंपर पैदावार: कोरोना संक्रमण के दौरान बढ़ी मांग, जानिए इसमें क्या है खास

जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘जगमोहन जी का निधन हमारे राष्ट्र के लिए बहुत बड़ी क्षति है। वह अनुकरणीय प्रशासक और प्रसिद्ध विद्वान थे। उन्होंने हमेशा भारत की बेहतरी की दिशा में काम किया। बतौर मंत्री अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई नवप्रवर्तक नीतियों का निर्माण किया। उनके परिवार और फोन के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। ‘

प्रधानमंत्री के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी जगमोहन के निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के रूप में जगमोहन जी के कार्यकाल को हमेशा याद किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: पिछले 24 घंटे में 4650 नए प्रकार मिले और 37 की मौत, जिलेवार आंकड़े देखें

जगमोहन जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल रहने के अलावा केंद्रीय मंत्री भी रहे। वह दिल्ली और गो के उपराज्यपाल भी थे। जगमोहन लोकसभा में भी निर्वाचित हुए थे। उन्होंने नगरीय विकास एवं पर्यटन मंत्री के पद का भी कार्यभार संभाला था।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल का पद दो बार संभाला था। वह 1984 से 1989 तक और फिर 1990 में जनवरी से मई तक इस पद पर रहे। कभी सख्त नौकरशाह के तौर पर दिल्ली में पहचान बनाने वाले जगमोहन मल्होत्रा ​​के बाद राजनीति में उतरे। अपनी छवि और कार्यशैली के कारण जगमोहन अटल सरकार में मंत्री भी बने थे।

विस्तार

कहा जाता है कि जम्मू-कश्मीर में अगर कभी विकास की लहर चली तो वह कार्यकाल पूर्व राज्यपाल जगमोहन मल्होत्रा ​​का था। जम्मू में बना फ्लाईओवर पूर्व राज्यपाल की ही देन है। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड भी उनका भुगतान है। ऐसे ही कई अन्य विकास परियोजनाएं हैं, जो जगमोहन के कार्यकाल में तैयार हुई हैं।

मंगलवार को उनके निधन की सूचना मिलते ही प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई। लोग उनके कार्यकाल में होने वाले कार्यों को याद कर रहे थे। इस दौरान उनकी आंखें भर आईं। बता दें कि 94 साल के जगमोहन मल्होत्रा ​​कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे जिनके बाद दिल्ली में उन्होंने आखिरी सांस ली।

ये भी पढ़ें- कश्मीरी की बंपर पैदावार: कोरोना संक्रमण के दौरान बढ़ी मांग, जानिए इसमें क्या है खास


आगे पढ़ें

निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया शोक





Source link

jammu kashmir पूर्व राज्यपाल कश्मीर जगमोहन मल्होत्रा जम्मू समाचार हिंदी में जम्मू हिंदी समचार नवीनतम जम्मू समाचार हिंदी में पूर्व राज्यपाल जगमोहन राज्यपाल राज्यपाल जगमोहन मल्होत्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Jammu & Kashmir News

निकट-कश्मीर; सही परीक्षण ने सही जांच की, यह जांच की गई ️️️️️️️️️️

जे, समाधान

द्वारा प्रकाशित: डेटा और
अपडेट किया गया शनि, 15 मई 2021 12:07 AM IST

सर
दिधि सिंह ठाकुर और संजय डॉ. खंडपीठ ने शुक्रवार

Jammu & Kashmir News

सुरक्षा-कश्मिश: डी-बॉक्स में सबसे कठोर से कड़ी सुरक्षा वाली सफाईकर्मी . ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है

मंत्र, अमर उजाला, सूक्त

द्वारा प्रकाशित: पुर्णेश कुमार
अपडेट किया गया शनि, 15 मई 2021 11:23 PM IST

सर
कोरोना संक्रमण के मामले में 2.40

Jammu & Kashmir News

विश्वविद्यालय-विश्वविद्यालय के पद के लिए आवेदन करने के लिए

इस्‍लामिक स्वास्थ्य सुविधाएं एंड टेक्नोलॉजी में वैसी स्थितियाँ स्थिति को भरने के लिए 17 मई से ऑनलाइन आवेदन पत्र जैल हैं। आवेदन करने

Jammu & Kashmir News

बंद होने के बाद बंद होने के बाद बंद होने की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए

मंत्र, अमर उजाला, सूक्त

द्वारा प्रकाशित: पुर्णेश कुमार
अपडेट किया गया शनिवार, 15 मई 2021 10:45 PM IST

सर
बचाव के बाद बचाव के लिए.