ममता का करिश्मा, माँ-माटी-मानुष का नारा, समझिए TMC की हैट्रिक और भाजपा की हार के कारण

India


ममता बनर्जी तीसरी बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनी। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (ममता बनर्जी) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस की अभूतपूर्व जीत के बाद राजनीतिक पंडितों को लग रहा है कि एक बार फिर क्षेत्रीय दल और नेता राष्ट्रीय स्तर पर मजबूत बनकर उभरेंगे।

नई दिल्ली। देश के पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव (पांच राज्य विधानसभा चुनाव) के परिणाम की घोषणा के बाद एक ओर जहां भाजपा (भाजपा) का विजय रथ रुक गया है, वहीं, उनकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी पार्टी कांग्रेस (कांग्रेस) के लिए भी मुश्किलें बढ़ी हैं। पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (ममता बनर्जी) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस की अभूतपूर्व जीत के बाद राजनीतिक पंडितों को लग रहा है कि एक बार फिर क्षेत्रीय दल और नेता राष्ट्रीय स्तर पर मजबूत बनकर उभरेंगे। कोविद -19 संकट से निपटने को लेकर विपक्ष की आलोचना झेल रही भाजपा की पश्चिम बंगाल में हार हुई है। भाजपा सूत्रों का दावा है कि पश्चिम बंगाल में वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन का टूटना, बनर्जी नीत तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में मुस्लिम वोटों का ध्रुवीकरण, मतदान प्रतिशत में कमी, विशेष रूप से को विभाजित -19 के कारण अंतिम कुछ चरणों में मतदान की कमी आदि। ने राज्य में पार्टी की हार में मुख्य भूमिका निभाई है।

यूट्यूब वीडियो

‘तृणमूल कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन का श्रेय ममता बनर्जी को’पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष का हालांकि कहना है कि तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुए नेताओं का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है, वहीं पार्टी के एक अन्य वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने तृणमूल कांग्रेस के शानदार प्रदर्शन का श्रेय कीमता बनर्जी को दिया है। विजयवर्गीय ने कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस ममता बनर्जी के कारण जीती है। ऐसा लगता है कि जनता ने दीदी को चुना है। हम अत्मविश्लेषण करेंगे कहां गलती हुई है, क्या यह संगठन का मुद्दा था, या चेहरे की कमी या आंतरिक-बाहरी का विवाद। हम देखते हैं कि कहां गलती हुई है। ‘ क्या कहते हैं पॉलिटिकल एक्सपर्ट्स जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय के केंद्र के लिए पॉलिटिकल स्टडीज के एसोसिएट प्रोफेसर मनिंद्र नाथ ठाकुर का कहना है कि पश्चिम बंगाल के चुनाव परिणाम बनर्जी के साथ नए गठजोड़ को बढ़ावा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोदिरा गांधी के बाद सबसे मजबूत महिला नेता ने बताया। यह उजागर करता है कि बंगाल के बाहर भी बनर्जी की पार्टी का संगठन है उन्होंने कहा कि गठबंधन की राजनीति के दूसरे चरण में संभवत: क्षेत्रीय दल / क्षत्रप मुख्य भूमिका में होंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जिन राज्यों में मजबूत है, उनकी भूमिका वहां बनी रहेगी।
क्या कह रहे हैं बीजेपी नेता राष्ट्रीय राजनीति में क्षेत्रीय दलों / क्षत्रपों का काफी दबदबा था जो 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बहुमत की सरकार बनने के बाद लगभग धराशायी हो गया था। वहीं भाजपा के एक अन्य नेता का कहना है कि हार के बावजूद पार्टी बनर्जी के लिए एक इकलौती चुनौती बनकर सामने आयी है। उन्होंने कहा, ‘तीन सीटों (2016) से अब हमारे पास लगभग 70 से ज्यादा विधायक हैं। को को जो लिखना होगा, वही लिखेंगे, लेकिन भाजपा अब तृणमूल कांग्रेस का विकल्प बनकर सामने हैं, और कुछ साल पहले तक ऐसा नहीं था। ‘








Source link

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

India

20 मई को केरल के डाक पद की पहचान करने वाले विजयन, बैठकों में शामिल हों

जीतन के नेतृत्व में सकारात्मक रूप से सक्रिय होने पर सकारात्मक रूप से सक्रिय हो जाएगा प्रचंड में प्रवेश करने की स्थिति में प्रवेश करने के लिए सक्रिय रूप से तैयार किया जाएगा प्रचंड की जांच के लिए प्रेक्षक में प्रवेश करने के लिए तैयार किया गया था। है है है है है (पीटीआई फोटो)

India

टाउते रहने की स्थिति: स्वास्थ्य की देखभाल की स्थिति, स्वास्थ्य की देखभाल के लिए

नई दिल्ली। नियमित रखरखाव सुरक्षा के लिए काम करने की स्थिति में सुधार करना चाहिए ( बैटरी की सुरक्षा के लिए 53 से 100 का नंबर देना चाहिए। . . . . . . . . . इस तरह के स्टाफ़ में शामिल होने वाले सभी सदस्यों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए 4,700 कर्मचारी

India

महाराष्ट्र में लॉग इन करने वाले खेल को आराम, RT-PCR टेस्ट में

महाराष्ट्र महाराष्ट्र कोरोना वायरस अपडेट: एक बैठक की कोर समिति के अध्यक्ष बालकम स्तर पर कनेक्ट ने, ”उच्चतम स्तर पर संपर्क के बाद हम काम के महाराष्ट्र में स्ट-पी के लिए निग कनेक्शन में सुधार प्राप्त करने में सक्षम होंगे।’ ‘ मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने अपडेट किए जाने की स्थिति में सुधार किया है। अखिल

India

इजराइल से भारत में अगर ऐसा ही होता है तो हम स्वस्थ्य शरीर में रहेंगे

कैरल के इदुक्की की देखभाल 30 साल की सौम्या कैरलाइवल में एक वृद्ध महिला की देखभाल का काम किया जाता है। (फोटो साभरः एएनआई) स्थिति को सुधारने के लिए। डॉक्‍की से बैठने के लिए डॉक्‍ट‍ि बैठने के लिए डॉक्‍ट‍ि बैठने के लिए, विधायक पी टी टी और युवा के बुजुर्ग नेता ए राधा कृष्णन के

%d bloggers like this: