भारत में टीकाकरण: 1 मई से 18+ का वैक्सीनेशन, यहां जानें कैसे होगा पंजीकरण, क्या है प्रक्रिया

India


नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सोमवार को कहा कि एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को विभाजित -19 से हस्तक्षेप के लिए टीका (एंटी कोविद टीकाकरण) लगवा देंगे। सरकार ने टीकाकरण अभियान में ढील देते हुए राज्यों, निजी अस्पतालों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों को सीधाek निर्माताओं से खुराक खरीदने की अनुमति भी दे दी।

अगले महीने से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण के तहत टीका निर्माता अपनी केंद्रीय औषधि प्रयोगशालाओं (सीडीएल) से हर महीने जारी खराकों की 50 प्रतिशत आपूर्ति केंद्र सरकार को करेंगे और बाकी 50 प्रतिशत आपूर्ति को वे राज्य सरकारों को और खुले बाजार में बेचेंगे । स्वतंत्र रूप से होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक आधिकारिक बयान के अनुसार टीका उत्पादकों को राज्य सरकारों को और खुले बाजार में उपलब्ध होने वाली 50 प्रतिशत आपूर्ति की कीमत एक मई, 2021 से पहले घोषित करनी होगी।

पंजीकरण कैसे करें
अगर आप 1 मई 2021 को 18 साल या उससे ऊपर हैं तो वैक्सीनेशन के लिए सबसे पहले आपको पंजीकरण कराना होगा। कोविन, आरोग्य सेतु ऐप के जरिए पंजीकरण हो सकता है। इसके साथ ही पंजीकरण पंजीकरण यानी अस्पतालों और टीकाकण केंद्रों पर भी पंजीकरण की प्रतिक्रिया होगी। पंजीकरण के लिए आपको वैध पहचान पत्र की जरूरत होगी, जिसमें आधार कार्ड, डीएल, पास, वेटर आईडी कार्ड शामिल हैं। पात्र व्यक्ति चरण-दर-चरण प्रक्रिया के माध्यम से अपने मोबाइल नंबर के माध्यम से को-विन पोर्टल पर पंजीकरण कर सकता है। पहले को-विन एप का उपयोग करें, या www.cowin.gov.in पर लॉग ऑन करें। अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें। अपना खाता बनाने के लिए ओटीपी मिलेगा। ओटीपी दर्ज किया और ‘वेरिफाइ’ बटन पर क्लिक करें। इसके बाद आप वैक्सीनेशन के पंजीकरण से जुड़े पेज पर रिडायरेक्ट हो जाएंगे। यहां आपको फोटो आईडी प्रूफ चुनना होगा। इसके साथ हीअपना नाम, उम्र, लिंग की जानकारी देकर और जो आईडी प्रूफ चुना है उसे अपलोड करें। पंजीकरण के लिए जानकारी दर्ज करने के बाद, ‘रजिस्टर’ बटन पर क्लिक करें।

इसी मूल्य के आधार पर राज्य सरकारें, निजी अस्पताल, औद्योगिक अनुप्रयोगों आदि के पक्षकार निर्माताओं से टीकों की खुराक खरीदेंगे। निजी अस्पतालों को केंद्र सरकार के माध्यम से आने वाली खुराकों के अतिरिक्त 50 प्रतिशत आपूर्ति से ही विशेष रूप से अपनी टीकों की खेप खरीदनी होगी। कथन के अनुसार निजीके उत्पादकों को अपने स्व-निर्धारित मूल्य को विस्तार के साथ घोषित करना होगा और इस माध्यम से सभी वयस्क (18 वर्ष से अधिक उम्र के लोग) टीका लगाने के लिए पात्र हो जाएंगे।

सभी टीकाकरण ‘राष्ट्रीय को विभाजित -19 टीकाकरण कार्यक्रम’ की उदारीकृत और त्वरित चरण -3 की रणनीति के तहत किया जाएगा। शशि टीकाकरण केंद्रों में टीकों के भंडार और प्रति खुराक का मूल्य भी निश्चित समय के आधार पर प्रकट होगा। बयान में कहा गया, ‘भारत सरकार उपयोग के लिए पूरी तरह से तैयार टीएसी को केंद्र सरकार के कॉर्प से इतर पूरी तरह से इस्तेमाल की गई इच्छा।’

देश में अभी तक 12,38,52,566 लोगों को टीके लगे हैं
स्वास्थ्य कर्मियों, प्रयोजनों मोर्चे पर रहकर काम करने वाले लोगों और 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए टीकाकरण पहले की तरह सरकारी केंद्रों पर नि: शुल्क होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाने की अनुमति देने का फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रविष्टि में हुई एक बैठक में लिया गया।

बयान के अनुसार, ‘प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार इस बात के लिए एक साल से अधिक समय से कड़ी मेहनत कर रही है कि कम से कम संभव समय में अधिक से अधिक भारतीयों को टीके लग सके। उन्होंने कहा कि भारत में विश्व में रिकॉर्ड अप से लोगों का टीकाकरण हो रहा है और हम इसे और अधिक अप से जारी रखेंगे। ‘

सरकार का यह फैसला ऐसे समय में आया है जब देश में कोरोनावायरस टाइपों की संख्या डेढ़ करोड़ के पार पहुंच चुकी है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश में अभी तक 12,38,52,566 लोगों को टीकों की खुराक लग चुकी है। (भाषा इनपुट के साथ)





Source link

18+ टीकाकरण covid19 टीकाकरण टीका भारत भारत में कोरोनोवायरस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

India

दिल्ली हाईकोर्ट का जेएनयू प्रशासन को निर्देश- योग्य छात्रों के लिए जल्द ही आईसोलेशन सेंटर बनाएं

पर्यावरण के अनुकूल होने के लिए, विद्यार्थी और पर्यावरण के अनुकूल वातावरण उड़ने वाले की गुणवत्ता के लिए बेहतर होगा। (फाइल फोटो) जेएनयू में कोरोनावायरस: कोर्ट ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले छात्रों के बुनियादी मापदंडों की निगरानी को सुगम बनाने के लिए यदि किसी सहायक / नर्सिंग स्टाफ की आवश्यकता है, तो

India

आपदा की स्थिति में मौसम की स्थिति में मौसम की स्थिति में अरब की अर्थव्यवस्था पर निर्भर करता है

कोरोना वारियर्स मेडिकल कर्मी की मौत पर 50 और पुलिसकर्मी की मौत पर 30 लाख करेगी सरकार स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हरियाणा वारियर्स की कुबानी की कीमत अदा की जा सकती है। कोरोना की बीमारी की स्थिति में भी रोग की घोषणा की जाती है। लाख घोषणा 30 लाख की घोषणा की।

India

कोविड️️️ कोविड️ कोविड️ कोविड️ कोविड️ कोविड️️️️️

हाईकोर्ट ने बॉर्डर पर एकारेंस रोकने के फैसले पर रोक लगा दी है। (संकेत चित्र) तेलंगाना पुलिस राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों में पड़ोसी आंध्रप्रदेश से आने वाले मरीजों की एकरेंस को रोक रही थी। पुलिस को अलग-अलग मरीजों को सिर्फ अस्पताल और बेड के लिए अनुमति मिल जाने के बाद ही जाने दे रही थी।

रेलवे ने “रोज नहीं चल रही 18 गाड़ियों  फेरों में की कटौती”
India

रेलवे ने “रोज नहीं चल रही अठारह गाड़ियों के फेरों में की कटौती”

रेलवे ने – कोरोना (कोरोना) संक्रमण के बढ़ते प्रकोप की वजह से ट्रेनों को रद्द करने के साथ-साथ उनके फेरो में कटौती का लगातार की

%d bloggers like this: