बाबा की समाधि बनाने वाले दस लोगों के खिलाफ केस

Solan News


ख़बर सुनना

सोलन / अर्की। जिले के अर्की क्षेत्र में 10 लोगों के खिलाफ को विभाजित -19 अंतिम संस्कार के निर्धारित नियमों का उल्लंघन करने पर मामला दर्ज कर दिया गया है। 29 अप्रैल को लुटरू महादेव बाबा की एमएमयू में को विभाजित से मौत के बाद इसकी जानकारी अर्की क्षेत्र के स्थानीय लोगों सहित प्रशासन को भी थी। इसके बाद स्थानीय प्रशासन ने बाबा के शव को कब्जे में नहीं लिया।
वहीं स्थानीय लोगों ने कोविड प्रोटोकॉल तोड़कर बाबा के शव को मंदिर परिसर के साथ समाधि दे दी। इस दौरान स्थानीय प्रशासन मूकदर्शक बना रहा। बाद में जब यह फैलने लगा तो स्थानीय प्रशासन की ओर से एसडीएम ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने समाधि बनाने में लगे 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
29 अप्रैल को एमएमयू में कोरोना से लुटरू महादेव के बाबा राम कृपाल भारती का निधन हो गया था। इसके बाद 30 अप्रैल को लुटरू महादेववे के समीप उन्हें समाधि दी गई। इस मौके पर लगभग 10 लोग मौजूद थे जबकि प्रशासन से इस दौरान कोई अधिकारी मौजूद नहीं था।
इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को नगर पंचायत अध्यक्ष ने दी थी जिसके बाद सरकारी अमला हरकत में आया था। एसडीएम अर्की ने इसकी कि शिकायत पुलिस को दी। एसपी सोलन अभिषेक यादव ने इस मामले की पुष्टि कर बताया कि पुलिस ने शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सोलन / अर्की। जिले के अर्की क्षेत्र में 10 लोगों के खिलाफ को विभाजित -19 अंतिम संस्कार के निर्धारित नियमों का उल्लंघन करने पर मामला दर्ज कर दिया गया है। 29 अप्रैल को लुटरू महादेव बाबा की एमएमयू में को विभाजित से मौत के बाद इसकी जानकारी अर्की क्षेत्र के स्थानीय लोगों सहित प्रशासन को भी थी। इसके बाद स्थानीय प्रशासन ने बाबा के शव को कब्जे में नहीं लिया।

वहीं स्थानीय लोगों ने कोविड प्रोटोकॉल तोड़कर बाबा के शव को मंदिर परिसर के साथ समाधि दे दी। इस दौरान स्थानीय प्रशासन मूकदर्शक बना रहा। बाद में जब यह फैलने लगा तो स्थानीय प्रशासन की ओर से एसडीएम ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने समाधि बनाने में लगे 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

29 अप्रैल को एमएमयू में कोरोना से लुटरू महादेव के बाबा राम कृपाल भारती का निधन हो गया था। इसके बाद 30 अप्रैल को लुटरू महादेववे के समीप उन्हें समाधि दी गई। इस मौके पर लगभग 10 लोग मौजूद थे जबकि प्रशासन से इस दौरान कोई अधिकारी मौजूद नहीं था।

इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को नगर पंचायत अध्यक्ष ने दी थी जिसके बाद सरकारी अमला हरकत में आया था। एसडीएम अर्की ने इसकी कि शिकायत पुलिस को दी। एसपी सोलन अभिषेक यादव ने इस मामले की पुष्टि कर बताया कि पुलिस ने शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।





Source link

सोलन नॉट सोलन न्यूज़ सोलन न्यूज़ टुडे सोलन न्यूज़ हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Solan News

उद्योगों को ऑक्सीजन निर्माण क्षमता बढ़ाने के दिए गए निर्देश

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सोलन। उपायुक्त सॉलन के सी चमन ने बड्डी में अतिरिक्त भोजन किया। उन्होंने कहा कि जिले में ऑक्सीजन

Solan News

उपायुक्त ने जांचीं जिले से लगतीं प्रदेश की सीमाएं

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सोलन। उपायुक्त सोलन केसी चमन ने बुधवार को प्रदेश सीमाओं का निरीक्षण किया। इस दौरान सोलन जिले के

Solan News

सुबाथू में टोल बैरियर हटाने का फरमान, लोनिवि और छावनी परिषद आमने-सामने

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सुबाथू (सोलन)। सुबाथू छावनी परिषद में प्रवेश करने पर लगने वाले टोल टैक्स को लेकर लोगों के बाद लोनिवि

Solan News

निगम के अमले ने मालरोड से बचा लिया अचरमण

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सोलन। शहर के मालरोड पर पैदल चलने के लिए बने फुटपाथ पर फड़ी लगाए बैठे अतिक्रमणकारियों पर नगर निगम

%d bloggers like this: