बड़वास पंचायत के चार गांवों में पानी की आपूर्ति बाधित है

Sirmour News


ख़बर सुनना

सतौन (सिरमौर)। गिरिपार क्षेत्र की बड़वास पंचायत के चार गांवों के 30 परिवार एक महीने से पानी की बूंद-बूंद को तरस रहे हैं। ग्रामीणों को पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है जिससे ग्रामीणों में जलशक्ति विभाग के प्रति गहरा रोष बना हुआ है।
गुस्साए ग्रामीणों ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री हेल्प लाइन में भी की है। शिकायत के बाद विभाग ने बुधवार को पानी की आपूर्ति सुचारु करने का दावा किया था लेकिन ग्रामीणों को फिर से पानी नहीं मिला है जिससे ग्रामीणों में भारी रोष पनप गया है। पानी की आपूर्ति न होने से ग्रामीण पानी के टैंकर मंगवाकर अपनी और मवेशियों की प्यास बुझा रहे हैं। इस कार्य में उन्हें भारी आर्थिक नुकसान भी हो रहा है।
ग्रामीण सतीश चौहान, अय्यर सिंह, दलीप सिंह, दीप चंद, चंद्र सैन, जगत सिंह, मनोज कुमार आदि ने बताया कि बड़वास पंचायत के पिययी धार, चानूर, सुरेन, बिड़पत आदि गांव में पानी की सप्लाई एक महीने से बाधित है। एक दिन पानी आता है और एक सप्ताह बंद रहता है। गांवों को डेटियार से उठाऊ पेयजल स्कीम के माध्यम से पानी की आपूर्ति की जाती है। यह स्कीम अक्सर खराब रहता है। विभागीय अधिकारी कभी पंप तो कभी मोटर की खराबी बता कर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं।
उन्होंने बताया कि वह महंगे दामों पर पानी के टैंकर मंगवा रहे हैं। कई-कई बार पानी के टैंकर मंगवा लिए गए हैं लेकिन विभाग अभी तक समस्या का समाधान नहीं कर पाया है। उन्होंने बताया कि विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को पानी की आपूर्ति करने का दावा किया है। जबकि उन्हें पानी की बूंद तक नसे नहीं हुई है। जल शक्ति विभाग के कनिष्ठ अभियंता वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि योजना को दुरुस्त कर दिया गया है। पानी की आपूर्ति की जा रही है।

सतौन (सिरमौर)। गिरिपार क्षेत्र की बड़वास पंचायत के चार गांवों के 30 परिवार एक महीने से पानी की बूंद-बूंद को तरस रहे हैं। ग्रामीणों को पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है जिससे ग्रामीणों में जलशक्ति विभाग के प्रति गहरा रोष बना हुआ है।

गुस्साए ग्रामीणों ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री हेल्प लाइन में भी की है। शिकायत के बाद विभाग ने बुधवार को पानी की आपूर्ति सुचारु करने का दावा किया था लेकिन ग्रामीणों को फिर से पानी नहीं मिला है जिससे ग्रामीणों में भारी रोष पनप गया है। पानी की आपूर्ति न होने से ग्रामीण पानी के टैंकर मंगवाकर अपनी और मवेशियों की प्यास बुझा रहे हैं। इस कार्य में उन्हें भारी आर्थिक नुकसान भी हो रहा है।

ग्रामीण सतीश चौहान, अय्यर सिंह, दलीप सिंह, दीप चंद, चंद्र सैन, जगत सिंह, मनोज कुमार आदि ने बताया कि बड़वास पंचायत के पिययी धार, चानूर, सुरेन, बिड़पत आदि गांव में पानी की सप्लाई एक महीने से बाधित है। एक दिन पानी आता है और एक सप्ताह बंद रहता है। गांवों को डेटियार से उठाऊ पेयजल स्कीम के माध्यम से पानी की आपूर्ति की जाती है। यह स्कीम अक्सर खराब रहता है। विभागीय अधिकारी कभी पंप तो कभी मोटर की खराबी बता कर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं।

उन्होंने बताया कि वह महंगे दामों पर पानी के टैंकर मंगवा रहे हैं। कई-कई बार पानी के टैंकर मंगवा लिए गए हैं लेकिन विभाग अभी तक समस्या का समाधान नहीं कर पाया है। उन्होंने बताया कि विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को पानी की आपूर्ति करने का दावा किया है। जबकि उन्हें पानी की बूंद तक नसे नहीं हुई है। जल शक्ति विभाग के कनिष्ठ अभियंता वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि योजना को दुरुस्त कर दिया गया है। पानी की आपूर्ति की जा रही है।





Source link

सिमरमौर विद सिरमौर न्यूज़ सिरमौर न्यूज़ टुडे सिरमौर न्यूज़ हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Sirmour News

चेहरे न पहनने के काटे नौ संयोजन, 4500 रुपये वसूला कैंची

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

ददाहू (सिरमौर)। कोरोना के बढ़ते प्रभाव को रोकने में पुलिस विभाग अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहा है। सार्वजनिक

Sirmour News

छठे नवरात्र पर 10 हजार श्रद्धालुओं ने माता-पिता के दर्शन किए

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

नाहन (सिरमौर)। उतरी भारत के प्रसिद्घ तीर्थ स्थल त्रिलोकपुर में छठे नवरात्र पर 9700 श्रद्घालुओं ने माता के दरबार