फूड इंडस्ट्री में आप भी बना सकते हैं अपनी अलग पहचान, जानें राहुल आहूजा से कैसे?

Published by Razak Mohammad on

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Updated Thu, 10 Sep 2020 11:07 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹365 & To get 20% off, use code: 20OFF

ख़बर सुनें

राहुल आहूजा भारतीय फूड इंड्रस्ट्री में जाना मान नाम है, वे बड़े ब्रांड्स, कंपनियों और अन्य भागीदारों के साथ मिलकर इस क्षेत्र में अपनी जड़े मजबूत कर रहे हैं। उनकी एक साधारण फिलोसॉफी है “आपकी सफलता आपके जूनून, निरंतर मेहनत और अपनी कम्युनिटी को वापस योगदान देने पर निर्भर करती है।”

विश्व भर के विभिन्न क्षेत्रों के लजीज व्यंजनों की गहन जानकारी होने की वजह से वे अपने उन फोलोवर्स की मदद करते हैं जो अपनी यात्राओं में क्षेत्रीय क्यूजीन को विशेष महत्व देते हैं। राहुल आहूजा के इट्स इंडिया का हर ब्लॉग और हर सोशल मीडिया पोस्ट उनकी बकेट लिस्ट में एक और नाम जोड़ देती है।  

राहुल आहूजा इट्स इंडिया द्वारा ये सुनिश्चित करते हैं कि उनके कंटेंट से कभी भी उनके फॉलोअर्स को हतोत्साहित न होना पड़े। वे अपने ब्लॉग्स, आर्टिकल्स और रेसपीएस के जरिये हमेशा नई जानकारी प्रदान करने के कोशिश में लगे रहते हैं।  युवा एंटरप्रेन्योर होने के नाते उन्हें इस बात का काफी हद तक एहसास है कि किसी भी क्षेत्र में नई शुरुआत करने वाले किसी भी एंटरप्रेन्योर को किन दिक्कतों से गुजरना पड़ता है। 

वे युवा पीढ़ी को ये संदेश देना चाहते हैं कि अपने सपनों कि उड़ान को मेहनत एवं जूनून के पंख दीजिए, सफलता जरूर मिलेगी।” वे दिखाना चाहते हैं कि नियमित 9 से 5 की नौकरी किए बिना लीग से हटकर अलग करियर का चुनाव गलत नहीं है। इंसान कि सफलता सुनिश्चित है अगर उसमें लगन और धैर्य हो और खुद को साबित कर दिखाने का जूनून हो।  

वे अपने ब्लॉग्स एवं सोशल मीडिया के जरिए अपने नए अनुभवों एवं यात्रा के दौरान सन्मुख आये नए व्यंजनों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हैं। वे कहते हैं “मैंने अपने जूनून को अपना करियर बनाया है, इससे न सिर्फ मुझे खुशी मिलती है बल्कि मैंने काफी कुछ पाया है। मैं इसके द्वारा अर्जित धन से कई यात्राएं कर चुका हूंऔर शायद एक नियमित करियर से कहीं ज्यादा सफल और संतुष्ट हूं।  

राहुल आहूजा भारतीय फूड इंड्रस्ट्री में जाना मान नाम है, वे बड़े ब्रांड्स, कंपनियों और अन्य भागीदारों के साथ मिलकर इस क्षेत्र में अपनी जड़े मजबूत कर रहे हैं। उनकी एक साधारण फिलोसॉफी है “आपकी सफलता आपके जूनून, निरंतर मेहनत और अपनी कम्युनिटी को वापस योगदान देने पर निर्भर करती है।”

विश्व भर के विभिन्न क्षेत्रों के लजीज व्यंजनों की गहन जानकारी होने की वजह से वे अपने उन फोलोवर्स की मदद करते हैं जो अपनी यात्राओं में क्षेत्रीय क्यूजीन को विशेष महत्व देते हैं। राहुल आहूजा के इट्स इंडिया का हर ब्लॉग और हर सोशल मीडिया पोस्ट उनकी बकेट लिस्ट में एक और नाम जोड़ देती है।  

राहुल आहूजा इट्स इंडिया द्वारा ये सुनिश्चित करते हैं कि उनके कंटेंट से कभी भी उनके फॉलोअर्स को हतोत्साहित न होना पड़े। वे अपने ब्लॉग्स, आर्टिकल्स और रेसपीएस के जरिये हमेशा नई जानकारी प्रदान करने के कोशिश में लगे रहते हैं।  युवा एंटरप्रेन्योर होने के नाते उन्हें इस बात का काफी हद तक एहसास है कि किसी भी क्षेत्र में नई शुरुआत करने वाले किसी भी एंटरप्रेन्योर को किन दिक्कतों से गुजरना पड़ता है। 

वे युवा पीढ़ी को ये संदेश देना चाहते हैं कि अपने सपनों कि उड़ान को मेहनत एवं जूनून के पंख दीजिए, सफलता जरूर मिलेगी।” वे दिखाना चाहते हैं कि नियमित 9 से 5 की नौकरी किए बिना लीग से हटकर अलग करियर का चुनाव गलत नहीं है। इंसान कि सफलता सुनिश्चित है अगर उसमें लगन और धैर्य हो और खुद को साबित कर दिखाने का जूनून हो।  

वे अपने ब्लॉग्स एवं सोशल मीडिया के जरिए अपने नए अनुभवों एवं यात्रा के दौरान सन्मुख आये नए व्यंजनों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हैं। वे कहते हैं “मैंने अपने जूनून को अपना करियर बनाया है, इससे न सिर्फ मुझे खुशी मिलती है बल्कि मैंने काफी कुछ पाया है। मैं इसके द्वारा अर्जित धन से कई यात्राएं कर चुका हूंऔर शायद एक नियमित करियर से कहीं ज्यादा सफल और संतुष्ट हूं।  



Source link


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *