प्रमुख राज्यों के विधानसभा चुनाव में एमपी के नेताओं का कितना महत्वपूर्ण रोल रहा?

India


एमपी के नेताओं ने उन राज्यों में पार्टी के लिए भूमिका निभाई, जहां विधानसभा चुनावों के नतीजे आ रहे हैं।

विधानसभा चुनाव परिणाम: पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। हालांकि इन राज्यों में मध्यप्रदेश शामिल नहीं है, लेकिन एमपी के नेताओं ने अन्य राज्यों के चुनावों में महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी सूचीबद्ध की है।

भोपाल। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के सिलसिले के बीच मध्य प्रदेश के लिए महत्वपूर्ण बात यह है कि राज्य के प्रमुख नेताओं ने इन चुनावी राज्यों में कैसे और कितना दम दिखाया। मध्य प्रदेश के दमोह में उपचुनाव की हवा ज़रूर पड़ रही है, लेकिन देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित प्रदेश बीजेपी के दिग्गज नेताओं के हिस्से में भी अहम ज़िम्मेदारियां बनी हुई हैं। अब देखना दिलचस्प होगा कि आखिर उन सीटों के नतीज़े क्या आते हैं। नौसिखियों की नज़र? एमपी से सीएम शिवराज, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा प्रमुख रूप से चुनाव प्रचार के दौरान काफी सक्रिय रहे। सीएम शिवराज जहां स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल थे और उन्होंने असम, केरल से लेकर पश्चिम बंगाल तक चुनाव प्रचार किया तो वहीं कैलाश विजयवर्गीय प्रमुख रूप से बंगाल के प्रभारी रहे।

यूट्यूब वीडियो

शिवराज और विजयवर्गीय की महत्वपूर्ण भूमिका के अलावा, भारतीय जनता पार्टी ने नरोत्तम मिश्रा को बंगाल के 7 ज़िलों की 57 विधानसभा सीटों का प्रभारी बनाया था। वहीं, मध्य प्रदेश से ही ताल्लुक रखने वाले केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को पार्टी ने असम के चुनाव का प्रतिद्वंद्वी टिकट दिया था।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम, विधानसभा चुनाव परिणाम, केरल विधानसभा चुनाव परिणाम, एमपी विधानसभा चुनाव परिणाम, पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम, असम विधानसभा चुनाव परिणाम, केरल विधानसभा चुनाव परिणाम, मध्य प्रदेश चुनाव परिणाम

मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

शिवराज ने कहां दिखाया दम?
भाजपा के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में बड़े नेताओं के साथ ही शिवराज का नाम भी शुमार रहा। उन्होंने असम की पलासबैरी, नाहरकटिया, दुलियाजान, डिमगढ़ विधानसभा और गुवाहाटी में पार्टी के लिए चुनाव प्रचार किया। इसके अलावा, शिवराज ने केरल के बेउर विधानसभा, कोंगड़ विधानसभा, चेलाक्कारा, नट्टीका विधानसभा में भी चुनावी सभाओं की। बंगाल में शिवराज की ताल पांच चुनावी राज्यों में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण पश्चिम बंगाल में ही रहा और यहां भाजपा ने पूरा जोर लगाकर चुनावी मुकाबला किया। यहां शिवराज ने मोयना, खेजुरी, धुलागोरी मोड़, आलमपुर और हावड़ा दक्षिण जैसे विधानसभाओं में प्रचार किया। इसके साथ ही धुलागोरी मोड़ से हावड़ा साउथ तक परिवर्तन रैली भी निकाली। मिश्रा का क्या हो रहा है? मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को बंगाल में बड़ी ज़िम्मेदारी वाली सूची पार्टी ने दी थी। मिश्रा ने आसनसोल, दुर्गापुर, मिदनापुर, वर्धमान, पुरुलिया, 24 परगना, बीर पृष्ठभूमि ज़िलों की विधानसभाओं में रैली और रोड शो किया। उन्होंने छोटी बड़ी करीब 50 रैलियां कीं और एक दर्जन से ज्यादा रोड शो किए। बताया गया है कि इस दौरान लगभग 10 हज़ार कार्यकर्ताओं को उन्होंने बीजेपी में शामिल किया।

.quote- बॉक्स {फ़ॉन्ट-आकार: 18px; लाइन-ऊँचाई: 28px; रंग: # 767676; गद्दी: 15px 0 0 90px; चौड़ाई: 70%; मार्जिन: ऑटो; स्थिति: रिश्तेदार; फ़ॉन्ट-शैली: इटैलिक; फोंट की मोटाई: बोल्ड; }
.quote- बॉक्स img {स्थिति: निरपेक्ष; शीर्ष: 0; बाएं: 30 पीएक्स; चौड़ाई: 50 पीएक्स; }
.special-text {फ़ॉन्ट-आकार: 18px; लाइन-ऊँचाई: 28px; रंग: # 505050; मार्जिन: 20px 40px 0px 100px; बॉर्डर-लेफ्ट: 8px सॉलिड # ee1b24; गद्दी: 10px 10px 10px 30px; फ़ॉन्ट-शैली: इटैलिक; फोंट की मोटाई: बोल्ड; }
.quote-box .quote-nam {फ़ॉन्ट-आकार: 16px; रंग: # 5f5f5f; पैडिंग-टॉप: 30 पीएक्स; पाठ-संरेखण: सही; फ़ॉन्ट-वजन: सामान्य}
.quote-box .quote-nam काल {फ़ॉन्ट-भार: बोल्ड; रंग: # ee1b24}
@मीडिया केवल स्क्रीन और (अधिकतम-चौड़ाई: 740px) {
.quote- बॉक्स {फ़ॉन्ट-आकार: 16px; लाइन-ऊंचाई: जीपीएक्स; रंग: # 505050; मार्जिन-टॉप: 30 पीएक्स; गद्दी: 0px 20px 0px 45px; स्थिति: रिश्तेदार; फ़ॉन्ट-शैली: इटैलिक; फोंट की मोटाई: बोल्ड; }
.special-text {फ़ॉन्ट-आकार: 18px; लाइन-ऊँचाई: 28px; रंग: # 505050; मार्जिन: 20px 40px 0px 20px; बॉर्डर-बाएं: 8px ठोस # ee1b24; गद्दी: 10px 10px 10px 15px; फ़ॉन्ट-शैली: इटैलिक; फोंट की मोटाई: बोल्ड}
.quote- बॉक्स img {चौड़ाई: 30px; बाएं: 6 पीएक्स}
.quote-box .quote-nam {फ़ॉन्ट-आकार: 16px; रंग: # 5f5f5f; पैडिंग-टॉप: 30 पीएक्स; पाठ-संरेखण: सही; फ़ॉन्ट-वजन: सामान्य}
.quote-box .quote-nam काल {फ़ॉन्ट-भार: बोल्ड; रंग: # ee1b24}





Source link

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 विधानसभा चुनाव परिणाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

India

कड़े नियम अपनाएं जाएं तो नहीं आएगी कोरोना की तीसरी लहर: पीएम मोदी के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार

पीएम मोदी के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार के विजयराघवन। कोरोनावायरस थर्ड वेव: विजयराघवन ने कहा कि यदि हम मजबूत उपाय करते हैं, तो तीसरी लहर कहीं भी नहीं हो सकती है। नई दिल्ली। भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार ने कहा है कि अगर कड़े नियम अपनाएं जाएं तो कोरोनावायरस की तीसरी लहर (कोरोनावायरस थर्ड वेव)

India

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की कोरोना से मौत, दिल्ली के एम्स में भर्ती थी: रिपोर्ट

कोरोनावायरस से चेतन्य छोटा राजन (फाइल फोटो) था छोटा राजन का निधन: 61 वर्षीय राजन 2015 में इंडोनेशिया के बाली से प्रत्यर्पण के बाद अपनी गिरफ्तारी के बाद से ही दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद था। तिहाड़ जेल प्रशासन ने सोमवार को दिल्ली की एक सत्र अदालत को छोटा राजन के संदिग्ध होने की

India

भारत को अगर कोरोना पर काबू पाना है तो शीर्ष चिकित्सा विशेषज्ञ की बात सुनें

ज़का – इस वक्त भारत को विभाजित 19 की दूसरी लहर से जूझ रहा है और आपने यकीनन इस पर नज़र बनाए रखी होगी।

India

कोरोनावायरस दूसरा लहर: देश के 129 जिले चिंता की बात है, हर दिन मिल 5000 से जियाडा प्रकरण

देश में कोरोना संभावित रोगियों की संखया तेजी से बढ़ रही है। कोरोना (कोरोना) के बढ़ते आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो गुरुग्राम (गुरुग्राम) में 10 लाख लोगों पर कोरोना के नए केसों (कोरोना केस) की संख्‍या 11,695 है। इसके साथ ही कोलकाता में प्रति 10 लाख पर कोरोना के 9,494 नए केस सामने आ रहे

%d bloggers like this: