पंचायत चुनाव: पत्नी को निर्विरोध प्रधान और पति को चुना उपप्रधान

Published by Razak Mohammad on

कचौटधार पंचायत में पत्नी को प्रधान और पति को उपप्रधान चुना गया।
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में द्रंग की नवगठित कचौटधार पंचायत में पत्नी को प्रधान और पति को उपप्रधान चुना गया है। छह जनवरी को पंचायत चुनावों में नाम वापसी की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद दोनों समेत पूरी पंचायत को ही निर्विरोध चुन लिया गया है। प्रधान आशा देवी और उपप्रधान जय सिंह राणा ने इसके लिए पूरी पंचायत का आभार जताया है। पंचायत के लोगों को आश्वस्त किया है कि विकास कार्यों में कोई बाधा नहीं आने दी जाएगी। पूरी पंचायत में घुमहारड़ा-1 वार्ड से कला देवी, घुमहारड़ा-दो से सपना देवी, सरी-एक से ललिता देवी, सरी-दो से ज्योति देवी और कचौटधार से मूल चंद को वार्ड पंच चुना गया है। 

नैना टिक्कर में तीखे सवाल पूछ टटोली उम्मीदवारों की नब्ज
उधर, पंचायत चुनाव में निर्विरोध पंचायतें गठित करने में पहले स्थान पर रहे सिरमौर जिले में अब नई पहल शुरू हुई है। पच्छाद क्षेत्र के अंतर्गत नैना टिक्कर पंचायत में ग्रामीण युवाओं ने चुनाव में प्रधान और उपप्रधान पद के लिए मैदान में उतरे उम्मीदवारों से तीखे सवाल पूछकर उनकी नब्ज टटोली। इसके लिए जन जागृति मंच व सर्वोदय यूथ क्लब नैना टिक्कर ने जन संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया। उम्मीदवारों को एक पंक्ति में बैठाकर बारी-बारी सवाल पूछे गए। ग्रामीणों को भी सवाल पूछने का मौका दिया गया।  
इस कार्यक्रम में प्रधान एवं उप प्रधान पद के चार-चार उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया। उपप्रधान के उम्मीदवारों में हितेश गौतम, जियालाल ठाकुर, ओम प्रकाश शर्मा, सूर्यकांत सेवल उपस्थित रहे। वहीं, प्रधान पद के उम्मीदवारों में प्रीति कंवर, पूर्व प्रधान शिशु देवी, राधा अत्री व अंजू ठाकुर ने जनता के तीखे सवालों का सामना किया। प्रधान एवं उप प्रधान के उम्मीदवारों से सात-सात सवाल जनता के सामने पूछे गए। मुख्य रूप से यह पूछा गया कि वे चुनाव क्यों लड़ना चाहते हैं।

उनकी पांच वर्षों के लिए क्या प्राथमिकताएं रहेंगी। इस कार्यक्रम में जन जागृति मंच के संयोजक पीयूष सेवल ने मंच संचालन किया। ग्रामीणों ने सवाल दागे कि पिछले पांच वर्षों में विभिन्न योजनाएं क्यों लागू नहीं हो सकीं। पेयजल की समस्याएं, कच्चे रास्ते, संपर्क मार्गों की मरम्मत इत्यादि प्रमुख मुद्दे उठाए गए। जन जागृति मंच तथा सर्वोदय यूथ क्लब के सदस्य हितेंद्र ठाकुर, सुरेश ठाकुर, प्रकाश ठाकुर, अजय शर्मा, वीरेंद्र ठाकुर इत्यादि ने कहा कि पंचायत का युवा वर्ग इसी तरह के कार्यक्रम निरंतर रूप से क्षेत्र के विकास के लिए अपना योगदान देता रहेगा। गौरतलब है कि नैना टिक्कर पंचायत में प्रधान व उपप्रधान पद के लिए छह-छह उम्मीदवार मैदान में हैं। सभी उम्मीदवार चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं। ऐसे में इस तरह का जन संवाद कार्यक्रम अपने आप में अहम भूमिका इन चुनावों में निभा सकता है। 

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में द्रंग की नवगठित कचौटधार पंचायत में पत्नी को प्रधान और पति को उपप्रधान चुना गया है। छह जनवरी को पंचायत चुनावों में नाम वापसी की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद दोनों समेत पूरी पंचायत को ही निर्विरोध चुन लिया गया है। प्रधान आशा देवी और उपप्रधान जय सिंह राणा ने इसके लिए पूरी पंचायत का आभार जताया है। पंचायत के लोगों को आश्वस्त किया है कि विकास कार्यों में कोई बाधा नहीं आने दी जाएगी। पूरी पंचायत में घुमहारड़ा-1 वार्ड से कला देवी, घुमहारड़ा-दो से सपना देवी, सरी-एक से ललिता देवी, सरी-दो से ज्योति देवी और कचौटधार से मूल चंद को वार्ड पंच चुना गया है। 

नैना टिक्कर में तीखे सवाल पूछ टटोली उम्मीदवारों की नब्ज

उधर, पंचायत चुनाव में निर्विरोध पंचायतें गठित करने में पहले स्थान पर रहे सिरमौर जिले में अब नई पहल शुरू हुई है। पच्छाद क्षेत्र के अंतर्गत नैना टिक्कर पंचायत में ग्रामीण युवाओं ने चुनाव में प्रधान और उपप्रधान पद के लिए मैदान में उतरे उम्मीदवारों से तीखे सवाल पूछकर उनकी नब्ज टटोली। इसके लिए जन जागृति मंच व सर्वोदय यूथ क्लब नैना टिक्कर ने जन संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया। उम्मीदवारों को एक पंक्ति में बैठाकर बारी-बारी सवाल पूछे गए। ग्रामीणों को भी सवाल पूछने का मौका दिया गया।  

इस कार्यक्रम में प्रधान एवं उप प्रधान पद के चार-चार उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया। उपप्रधान के उम्मीदवारों में हितेश गौतम, जियालाल ठाकुर, ओम प्रकाश शर्मा, सूर्यकांत सेवल उपस्थित रहे। वहीं, प्रधान पद के उम्मीदवारों में प्रीति कंवर, पूर्व प्रधान शिशु देवी, राधा अत्री व अंजू ठाकुर ने जनता के तीखे सवालों का सामना किया। प्रधान एवं उप प्रधान के उम्मीदवारों से सात-सात सवाल जनता के सामने पूछे गए। मुख्य रूप से यह पूछा गया कि वे चुनाव क्यों लड़ना चाहते हैं।

उनकी पांच वर्षों के लिए क्या प्राथमिकताएं रहेंगी। इस कार्यक्रम में जन जागृति मंच के संयोजक पीयूष सेवल ने मंच संचालन किया। ग्रामीणों ने सवाल दागे कि पिछले पांच वर्षों में विभिन्न योजनाएं क्यों लागू नहीं हो सकीं। पेयजल की समस्याएं, कच्चे रास्ते, संपर्क मार्गों की मरम्मत इत्यादि प्रमुख मुद्दे उठाए गए। जन जागृति मंच तथा सर्वोदय यूथ क्लब के सदस्य हितेंद्र ठाकुर, सुरेश ठाकुर, प्रकाश ठाकुर, अजय शर्मा, वीरेंद्र ठाकुर इत्यादि ने कहा कि पंचायत का युवा वर्ग इसी तरह के कार्यक्रम निरंतर रूप से क्षेत्र के विकास के लिए अपना योगदान देता रहेगा। गौरतलब है कि नैना टिक्कर पंचायत में प्रधान व उपप्रधान पद के लिए छह-छह उम्मीदवार मैदान में हैं। सभी उम्मीदवार चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं। ऐसे में इस तरह का जन संवाद कार्यक्रम अपने आप में अहम भूमिका इन चुनावों में निभा सकता है। 

[ad_2]

Source link


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *