नवरात्रि 8 वें दिन, महागौरी: नवरात्रि अष्टमी पर करें मां महागौरी की पूजा, जानें विधि, मंत्र और महत्व

India


मां महागौरी सुख और शांतिमती हैं।

नवरात्रि 8 वें दिन, महागौरी पूजा विधान समय पर महत्व का मंत्र- महागौरी की पूजा करने से लोगों के पापों का नाश होता है। महागौरी ने घोर तपस्या कर गौर वर्ण प्राप्त किया था। माँ महागौरी की आराधना से मनोवाँछित फल प्राप्त किया जा सकता है।

नवरात्रि 8 वें दिन, महागौरी पूजा विधान समय महत्व का मंत्र- आज चैत्र नवरात्रि की अष्टमी है। धार्मिक लिहाज से नवरात्रि की अष्टमी तिथि की बहुत महिमा होती है। आज भक्तों ने मां दुर्गा के आठवें स्वरुप महागौरी की पूजा-अर्चना की। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, जब महागौरी की उत्पत्ति हुई उस समय उनकी आयु आठ वर्ष थी इसलिए इनकी पूजा अष्टमी के दिन चली जाती है। ये देवी दुःख सुख और शान्ति देती है। अपने भक्तों के लिए यह अन्नपूर्णा स्वरूप है। इसलिए मां के भक्त अष्टमी के दिन कन्याओं का पूजन और सम्मान करते हुए महागौरी की कृपा प्राप्त करते हैं।

महागौरी का स्वरूप:
यह भी मान्यता है कि महागौरी की पूजा करने से लोगों के पापों का नाश होता है। महागौरी ने घोर तपस्या कर गौर वर्ण प्राप्त किया था। अतः उनजवल स्वरूप की महागौरी धन, ऐश्वर्य देने वाली, तीनों लोक में पूजी जाने वाली मंगला मूर्ति, मानसिक और सांसारिक ताप का हरण करने वाली माता महागौरी का नाम दिया गया है। यह धन-वैभव और सुख-शान्ति की गेह्त्री देवी है। सांसारिक रूप में इसका स्वरूप बहुत ही उज्जवल, कोमल, सफेद वर्ण और सफेद वस्त्रधारी चतुर्भुज युक्त एक हाथ में त्रिशूल, दूसरे हाथ में डमरू लिए हुए गायन संगीत की प्रिय देवी है, जो सफेद वृषभ यानि बैल पर सवार हैं।

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रि 2021: चैत्र नवरात्रि पर मां दुर्गा के इन मंदिरों में दर्शन करें, आशीर्वाद मिलेगामाँ महागौरी की आराधना से मनोवाँछित फल प्राप्त किया जा सकता है। रेफले वस्त्र धारण किए हुए महादेव को आनंद देवे की शुद्धता मूर्ती देवी महागौरी मंगलदायिनी हैं। महागौरी का प्रिय भोग- नवरात्रि के आठवें दिन माता को नारियल का भोग पाते व नारियल का दान कर दें। इससे संतान संबंधी परेशानियों से छुटकारा मिलता है।

महागौरी का बीज देवताओं:

“सर्वम सर्व्गलमगल्गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके।
शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणी नमो .स्तु ते।
अर्थ :- नारायणी! आप सब प्रकार का म सब्गल प्रदान करनेवाली मगल्गलमयी हो।कल्याण्यिनी शिवा हो। सब पुरुषार्थो को सिद्ध करनेवाली, शरणागतवत्सला, तीन नेत्रोंवाली और गौरी हो। आपको नमस्कार है। (अस्वीकरण: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचना सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। हिंदी समाचार 18 इनकी पुष्टि नहीं करता है। ये पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)








Source link

चैत्र नवरात्रि 2021 चैत्र नवरात्रि २०२११ दुर्गा अष्टमी दुर्गाष्टमी 2021 नवरात्रि 2021 नवरात्रि २०२११ महागौरी का महत्व महागौरी की पूजा विधि महागौरी पूजा विधी महागौरी मंत्र माँ महागौरी माँ महागौरी मंत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

India

दिल्ली हाईकोर्ट का जेएनयू प्रशासन को निर्देश- योग्य छात्रों के लिए जल्द ही आईसोलेशन सेंटर बनाएं

पर्यावरण के अनुकूल होने के लिए, विद्यार्थी और पर्यावरण के अनुकूल वातावरण उड़ने वाले की गुणवत्ता के लिए बेहतर होगा। (फाइल फोटो) जेएनयू में कोरोनावायरस: कोर्ट ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले छात्रों के बुनियादी मापदंडों की निगरानी को सुगम बनाने के लिए यदि किसी सहायक / नर्सिंग स्टाफ की आवश्यकता है, तो

India

आपदा की स्थिति में मौसम की स्थिति में मौसम की स्थिति में अरब की अर्थव्यवस्था पर निर्भर करता है

कोरोना वारियर्स मेडिकल कर्मी की मौत पर 50 और पुलिसकर्मी की मौत पर 30 लाख करेगी सरकार स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हरियाणा वारियर्स की कुबानी की कीमत अदा की जा सकती है। कोरोना की बीमारी की स्थिति में भी रोग की घोषणा की जाती है। लाख घोषणा 30 लाख की घोषणा की।

India

कोविड️️️ कोविड️ कोविड️ कोविड️ कोविड️ कोविड️️️️️

हाईकोर्ट ने बॉर्डर पर एकारेंस रोकने के फैसले पर रोक लगा दी है। (संकेत चित्र) तेलंगाना पुलिस राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों में पड़ोसी आंध्रप्रदेश से आने वाले मरीजों की एकरेंस को रोक रही थी। पुलिस को अलग-अलग मरीजों को सिर्फ अस्पताल और बेड के लिए अनुमति मिल जाने के बाद ही जाने दे रही थी।

रेलवे ने “रोज नहीं चल रही 18 गाड़ियों  फेरों में की कटौती”
India

रेलवे ने “रोज नहीं चल रही अठारह गाड़ियों के फेरों में की कटौती”

रेलवे ने – कोरोना (कोरोना) संक्रमण के बढ़ते प्रकोप की वजह से ट्रेनों को रद्द करने के साथ-साथ उनके फेरो में कटौती का लगातार की

%d bloggers like this: