नई शिक्षा नीति के साथ, छात्रों को रोज़गारपरक शिक्षा, बेहतर करियर प्रदान करता सेज विश्वविद्यालय

Published by Razak Mohammad on

  • Hindi News
  • Career
  • With The New Education Policy, SAGE University Provides Employment oriented Education To Students, Better Careers

25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भारत सरकार ने हाल ही में देश की नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी है। इस नई शिक्षा नीति से छात्रों की उच्च शिक्षा व वैश्विक एक्सपोजर के नए मार्ग प्रशस्त होंगे, भविष्य में देश में एक आधुनिक और बेहतर शिक्षा व्यवस्था देखने को मिलेगी । देश में उत्कृष्ट शैक्षणिक संस्थान की संख्या बढ़ेगी, अंतरराष्ट्रीय संस्थानों का भारत में कैम्पस निर्माण इस शिक्षा नीति के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु हैं। ऑनलाइन शिक्षा ने पहले ही छात्रों के आगे बढ़ने के कई मार्ग खोल दिए हैं। इससे एक नवीन शिक्षा प्रणाली से देश में बेहतर एकेडेमिक व्यवस्था के साथ साथ रोज़गार के अवसर भी तैयार होंगे।

नई शिक्षा नीति के साथ कदम मिलाते सेज विश्वविद्यालय

नई शिक्षा नीति के साथ कदम मिलाते हुए मध्य भारत का अग्रणी संस्थान सेज विश्वविद्यालय भी आगे बढ़ रहा है। सेज विश्वविद्यालय, मध्य प्रदेश (भोपाल, इंदौर) में है। सेज यूनिवर्सिटी को इंडस्ट्री रेडी कोर्सेस, बेहतर एकेडेमिक और शिक्षा क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिए कई बार राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया है। सेज समूह भोपाल पिछले ३ दशक से शिक्षा के क्षेत्र में प्रमुख नाम है। सेज समूह के २ अंतराष्ट्रीय स्तर के विश्वविद्यालय, मध्य प्रदेश के टॉप ५ कॉलेज , व दो सीबीएसई स्कूल है, समूह के सीएमडी इंजी संजीव अग्रवाल का कहना है कि हम रोजगारपरक शिक्षण व्यवस्था के लिए प्रतिबद्ध है , छात्रों को शिक्षा, संस्कार व भविष्य की चुनौतियां व संभावित अवसर के अनुसार तैयार किया जाता है सेज यूनिवर्सिटी का विश्व प्रतिष्ठित हार्वर्ड बिजनेस स्कूल ऑनलाइन व कई अंतरराष्ट्रीय संस्थान से शैक्षणिक अनुबंध है. जिसका लाभ यूनिवर्सिटी के छात्र ले रहे है।

34 वर्ष बाद आई यह नवीन शिक्षा नीति देश में शिक्षा के भविष्य को बदलने में सक्षम है। उच्च शिक्षा में होने वाले बदलाव जैसे ग्रेजुएशन में कई एक्जिट प्वाइंट का होना, उच्च शिक्षा 3 या 4 वर्ष का होना आदि देश की शिक्षा व्यवस्था को प्रभावित करते हैं। छात्रों को एक या दो वर्ष का पीजी प्रोग्राम व 5 वर्ष का इंटीग्रेटेड बैचलर व मास्टर प्रोग्राम भी प्रदान किया जाएगा। शिक्षा एक निवेश है, हर कोई यह सुनिश्चित करना चाहता है कि उसे भविष्य के अवसरों के अनुरूप अच्छी योग्यता और उच्च गुणवत्ता की शिक्षा मिले। सेज विश्वविद्यालय में पारंपरिक शिक्षण पद्धतियों के मूल्यों को बरकरार रखते हुए आधुनिक शिक्षण विधियों और सुविधाओं को अपनाया गया है।

उच्च शिक्षा क्षेत्र में नए आयाम गढ़ता सेज विश्वविद्यालय

सेज यूनिवर्सिटी आज मध्य भारत में उच्च शिक्षा में एक प्रतिष्ठित नाम है। देश के कई प्रख्यात शिक्षाविद, मोटिवेशनल स्पीकर, करियर कंसल्टेंट्स संस्थान से जुड़े हुए है। निम्नलिखत बिंदु सेज विश्वविद्यालय भोपाल, इंदौर को को देश का बेहतरीन विश्वविद्यालय बनाते हैं

1. एमओओसी- मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स

विश्वविद्यालय में छात्रों को अपने करियर के अनुसार स्पेशलाइजेशन के लिए कई कोर्स में से चुनने का मौका मिलता है, क्योंकि सेज विश्वविद्यालय ढेरों एमओओसी प्रदान करती है। ये कोर्स छात्रों को विश्व भर मे विभिन्न प्रकार के विषयों में से चुनने की आजादी प्रदान करते हैं। इससे छात्र विभिन्न पृष्ठभूमि वाले छात्रों के सम्पर्क में भी आ पाते हैं।

2. ओपेन स्किल बेस्ड एलेक्टिव्स

सेज विश्वविद्यालय एकेडमिक व इंडस्ट्री की आवश्यकता के बीच के अंतर को कम करने के लिए सतत कार्यरत है। छात्रों की सहायता के लिए विश्वविद्यालय स्किल बेस्ड एलेक्टिव्स प्रारम्भ कर रहा है। इनकी सहायता से छात्र उच्च शिक्षा में हो रहे परिवर्तनों से परिचित रहते हैं व आवश्यक नई स्किल सीखते रहते हैं। दूसरे विभाग के छात्रों द्वारा एलेक्टिव कोर्स पढ़ना छात्रों को जागरूक बनाता है व उन्हें जॉब ओरियेन्टेड लाभ प्रदान करता है।

3. जेनेरिक एलेक्टिव्स

जेनेरिक एलेक्टिव्स छात्रों को एक विस्तृत शिक्षा प्रदान करता है और छात्र विभिन्न विषयों व कोर्स के बीच इसका चयन कर सकते हैं। जेनेरिक एलेक्टिव का प्रमुख उद्देश्य छात्रों को आगे की पढ़ाई के लिए एक और विकल्प प्रदान करना है।

4. ग्रीन क्रेडिट

सेज विश्वविद्यालय ने देश में पहली बार ग्रीन क्रेडिट प्रारम्भ किया है, जिसके तहत छात्रों को विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान किए गए एक पौधे की देखभाल करनी है, जिसपर उन्हें दो क्रेडिट भी प्रदान किए जाएंगे। इससे छात्र क्लासरूम के बाहर की दुनिया से भी परिचित हो सकेंगे।

5. शारीरिक श्रम

इसके तहत मेडीटेशन, योगा व खेलकूद आता है। विश्वविद्यालय ने फीजिकल ऐक्टीविटी अथवा शारीरिक श्रम प्रोग्राम को पाठ्यक्रम में सम्मिलित किया है क्योंकि यह स्वस्थ व प्रसन्न जीवन के द्वार खोलता है। आज के समय में शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहना अत्यंत आवश्यक है। इस प्रोग्राम के तहत सेज छात्रों में आध्यात्मिक गुणों का भी विकास कर रहा है।

6. ऐक्टीविटी बेस्ड एलेक्टिव

नवीन शिक्षा नीति के साथ ही सेज, प्रदर्शन आधारित मुक्त एलेक्टिव जैसे म्यूजिक, फाइन आर्ट्स, व परफॉर्मिंग आर्ट्स भी प्रदान करता है। इससे छात्र ध्यान लगाने, भीड़ के समक्ष प्रस्तुति करने व कार्य को इम्प्रोवाइज करने में सक्षम होते हैं। इससे छात्रों में सामाजिक व व्यावहारिक गुण भी विकसित होते हैं।

7. विदेशी भाषा

एकेडमिक शिक्षा व अन्य कोर्स के साथ ही विश्वविद्यालय छात्रों के बेहतर करियर के लिए एक विदेशी भाषा सीखना अनिवार्य कर दिया गया है। आज के समय में भाषा का ज्ञान एक महत्वपूर्ण गुण है। नई भाषा सीखना छात्रों को एक ग्लोबल एक्सपोजर प्रदान करता है।

इंडस्ट्री रेडी कोर्सेस के साथ बेहतर रोज़गार के अवसर

कई इंडस्ट्री कोर्स हैं जिन्हें मौजूदा सेज विश्वविद्यालय के कोर्स में जोड़ा जाएगा। जिनमें से प्रमुख हैं- विले, सनस्टोन, माइक्रोफोकस, टीपीसीआरए, सेलरडॉटओआरजी, हुवावे, टेनेसी टेक, एप्पल लैब्स, व रेड हैट लाइनक्स आदि। इनकी सहायता से छात्र इंडस्ट्री की जरूरतों को समझ कर अपने करियर के अनुसार कोर्स का चयन कर सकते हैं। नवीन शिक्षा प्रणाली के साथ सेज विश्वविद्यालय शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के हर संभव प्रयास कर रहा है।

सेज विश्वविद्यालय इंदौर , भोपाल में एडमिशन की प्रक्रिया चालू है, इच्छुक छात्र एडमिशन की अधिक जानकारी के लिए यूनिवर्सिटी की वेबसाइट www.sageuniversity.edu.in पर विजिट कर सकते है।

0

Source link


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *