दिल्लीः एशिया की सबसे बड़ी गाजीपुर मुर्गा मंडी के सभी 100 सैंपल बर्ड फ्लू टेस्ट में निगेटिव

Published by Razak Mohammad on

देश में बढ़ रहा है बर्ड फ्लू का खतरा
– फोटो : PTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

दिल्ली के गाजीपुर में एशिया की सबसे बड़ी मुर्गा मंडी से लिए गए सभी 100 नमूनों में बर्ड फ्लू टेस्ट में फेल हुए हैं। किसी भी नमूने में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है। यह जानकारी दिल्ली पशुपालन विभाग ने दी है।

वेटेरनरी विभाग के निदेशक डॉ राकेश सिंह के मुताबिक, बुधवार को गाजीपुर मंडी से लिए गए नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे गाजीपुर मंडी में बर्ड फ्लू की पुष्टि अभी नहीं की जा सकती है। उन्होंने बताया कि एक दिन पहले दिल्ली के मुख्य सचिव द्वारा ली गई विशेष बैठक के बाद पार्कों की निगरानी बढ़ा दी गई है। सभी पार्क में अधिक से अधिक सैंपलिंग की जा रही है। बर्ड फ्लू के मद्देनजर बंद किए गए पार्कों में कोई भी व्यक्ति प्रवेश न करें इसके लिए भी विशेष तौर पर दिशा निर्देश दिए गए हैं। 

बर्ड फ्लू: स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तरह पके हुए चिकन खाने की दी सलाह
दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने बर्ड फ्लू के मद्देनजर पोल्ट्री उत्पादों को लेकर दिशा निर्देश जारी किए हैं। साथ ही लोगों को पैनिक न होते हुए पॉल्ट्री उत्पादों को 70 डिग्री सेल्सियस पर कम से कम 30 मिनट तक पका कर खाने की सलाह दी है। वहीं, आधा पका हुआ चिकन, हाफ फ्राई और आधा उबला हुआ चिकन भी न खाने की सलाह दी गई है। 

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार, एच5एन8 पक्षियों में अधिक रोगजनक है जबकि मानवों में इसकी क्षमता  कम बताई गई है। स्वास्थ्य विभाग ने बीमार दिखने वाले चिकन से दूरी बनाने के लिए कहा गया है।

साथ ही पक्षियों के सीधे संपर्क में न रहने की सलाह दी गई है। वहीं, पक्षी को खाने के लिए दिए जाने वाले बर्तन व पिंजरों को साबुन से अच्छी तरह धोने के लिए कहा है। सभी बूचड़खाने से निकलने वाले अपशिष्ट को पूरी तरह से निपटान करने के लिए कहा गया है।

एडवाइजरी में लोगों से पक्षियों को खुले हाथ से न छूने की सलाह देने के साथ किसी भी पक्षी के बीमार या मृत पाए जाने पर 011-23890 318 नंबर पर सूचना देने के लिए कहा गया है। इसके अलावा पके हुए मीट के पास कच्चा मीट भी नहीं रखने के लिए कहा गया है और हाथों को बार-बार धोने के लिए सलाह दी गई है।

गौरतलब है कि गत दिनों संजय झील में कई कौवे और बत्तख मृत पाई गई थी। इसको देखते हुए दिल्ली के राजस्व विभाग ने टीम को बॉर्डर पर तैनात कर बाहरी राज्यों से दिल्ली में चिकन की आपूर्ति पर प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही गाजीपुर मुर्गा मंडी को भी 10 दिन के लिए बंद किया गया है। मंगलवार तक राजधानी में करीब 50 पक्षियों की मौत दर्ज की गई थी। इसमें 18 सैंपल को जांच के लिए भेजा गया था। 

हेल्पलाइन नंबर पर अब तक 418 कॉल
दिल्ली सरकार द्वारा पक्षियों की सूचना देने के लिए जारी हेल्पलाइन नंबर पर अब तक 418 कॉल प्राप्त हो चुकी हैं। मंगलवार तक हेल्पलाइन नंबर पर करीब 332 कॉल आई थी। इसमें अधिक कॉल पक्षियों की मौत की मिली है। वहीं, कुछ पक्षियों की मौत ठंड से भी बताई जा रही है। हालांकि, इनमें से कई नमूनों को जांच के लिए भेजा जाएगा जिनकी रिपोर्ट आने पर ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हो सकेगी।

दिल्ली के गाजीपुर में एशिया की सबसे बड़ी मुर्गा मंडी से लिए गए सभी 100 नमूनों में बर्ड फ्लू टेस्ट में फेल हुए हैं। किसी भी नमूने में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है। यह जानकारी दिल्ली पशुपालन विभाग ने दी है।

वेटेरनरी विभाग के निदेशक डॉ राकेश सिंह के मुताबिक, बुधवार को गाजीपुर मंडी से लिए गए नमूनों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे गाजीपुर मंडी में बर्ड फ्लू की पुष्टि अभी नहीं की जा सकती है। उन्होंने बताया कि एक दिन पहले दिल्ली के मुख्य सचिव द्वारा ली गई विशेष बैठक के बाद पार्कों की निगरानी बढ़ा दी गई है। सभी पार्क में अधिक से अधिक सैंपलिंग की जा रही है। बर्ड फ्लू के मद्देनजर बंद किए गए पार्कों में कोई भी व्यक्ति प्रवेश न करें इसके लिए भी विशेष तौर पर दिशा निर्देश दिए गए हैं। 

बर्ड फ्लू: स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तरह पके हुए चिकन खाने की दी सलाह

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने बर्ड फ्लू के मद्देनजर पोल्ट्री उत्पादों को लेकर दिशा निर्देश जारी किए हैं। साथ ही लोगों को पैनिक न होते हुए पॉल्ट्री उत्पादों को 70 डिग्री सेल्सियस पर कम से कम 30 मिनट तक पका कर खाने की सलाह दी है। वहीं, आधा पका हुआ चिकन, हाफ फ्राई और आधा उबला हुआ चिकन भी न खाने की सलाह दी गई है। 

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार, एच5एन8 पक्षियों में अधिक रोगजनक है जबकि मानवों में इसकी क्षमता  कम बताई गई है। स्वास्थ्य विभाग ने बीमार दिखने वाले चिकन से दूरी बनाने के लिए कहा गया है।

साथ ही पक्षियों के सीधे संपर्क में न रहने की सलाह दी गई है। वहीं, पक्षी को खाने के लिए दिए जाने वाले बर्तन व पिंजरों को साबुन से अच्छी तरह धोने के लिए कहा है। सभी बूचड़खाने से निकलने वाले अपशिष्ट को पूरी तरह से निपटान करने के लिए कहा गया है।

एडवाइजरी में लोगों से पक्षियों को खुले हाथ से न छूने की सलाह देने के साथ किसी भी पक्षी के बीमार या मृत पाए जाने पर 011-23890 318 नंबर पर सूचना देने के लिए कहा गया है। इसके अलावा पके हुए मीट के पास कच्चा मीट भी नहीं रखने के लिए कहा गया है और हाथों को बार-बार धोने के लिए सलाह दी गई है।

गौरतलब है कि गत दिनों संजय झील में कई कौवे और बत्तख मृत पाई गई थी। इसको देखते हुए दिल्ली के राजस्व विभाग ने टीम को बॉर्डर पर तैनात कर बाहरी राज्यों से दिल्ली में चिकन की आपूर्ति पर प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही गाजीपुर मुर्गा मंडी को भी 10 दिन के लिए बंद किया गया है। मंगलवार तक राजधानी में करीब 50 पक्षियों की मौत दर्ज की गई थी। इसमें 18 सैंपल को जांच के लिए भेजा गया था। 

हेल्पलाइन नंबर पर अब तक 418 कॉल

दिल्ली सरकार द्वारा पक्षियों की सूचना देने के लिए जारी हेल्पलाइन नंबर पर अब तक 418 कॉल प्राप्त हो चुकी हैं। मंगलवार तक हेल्पलाइन नंबर पर करीब 332 कॉल आई थी। इसमें अधिक कॉल पक्षियों की मौत की मिली है। वहीं, कुछ पक्षियों की मौत ठंड से भी बताई जा रही है। हालांकि, इनमें से कई नमूनों को जांच के लिए भेजा जाएगा जिनकी रिपोर्ट आने पर ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हो सकेगी।

[ad_2]

Source link


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *