जोगिंद्रनगर में औपचारिकताओं तक सिमटा 40 लाख का ऑक्सीजन प्लांट

Mandi News


ख़बर सुनना

जोगिंद्रनगर (मंडी)। जोगिंद्रनगर उपमंदलीय अस्पताल में प्रस्तावित 40 लाख का ऑक्सीजन प्लांट सामानों की फाइल में दफन हो चुका है। समय रहते यदि इस ऑक्सीजन प्लांट पर नेता और अफसरशाही संजीदा होती तो कोविद के इस भयावह दौर में यह जोगिंद्रनगर वासियों के लिए संजीवनी से कम न होता। हॉटस्पॉट बने उपमंडल में कोरोना टाइपों के हिसाब से ऑक्सीजन की व्यवस्था उपमंदलीय अस्पताल में नहीं है। आठ से दस घंटे की ऑक्सीजन के बैकअप के सहारे उपमंडल के सैकड़ों को विभाजित मरीज हैं। ऐसे में आने वाले समय में जोगिंद्रनगर अस्पताल की ऑक्सीजन की बड़ी आपूर्ति के लिए अन्य विभागों पर निर्भर रहना होगा। उपमंडल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए ऑक्सीजन के भंडारण पर भी अस्पताल प्रशासन लगातार अपने स्तर पर कार्य कर रहा है लेकिन को विभाजित मरीजों की बढ़ती संख्या अस्पताल प्रशासन के लिए आने वाले समय में बड़ी परेशानियों के साथ होगा। ऐसी संभावनाएं अस्पताल प्रशासन की ओर से भी सामने आई हैं।
ऑक्सीजन प्लांट होता है तो हर वार्ड के मरीजों को बिस्तर पर सुविधा मिलती है
सौ बिस्तर वाले सिविल अस्पताल जोगिंद्रनगर पर क्षेत्र की सवा लाख आबादी निर्भर है। अस्पताल की बहुमंजिला इमारत में महिला, पुरुष, शिशु और गायनी वार्ड में लगभग सौ मरीजों के दाखिल करने की व्यवस्था है। आइसोलेशन वार्ड भी मरीजों के लिए शुरू किया है। सर्जिकल और आपातकालीन वार्ड भी अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए बना रखा है लेकिन किसी भी वार्ड में बिस्तर तक ऑक्सीजन सुविधा नहीं है। लगभग 40 लाख रुपये का प्राक्कलन तैयार कर ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की योजना अस्पताल प्रशासन की ओर से तैयार की गई थी, लेकिन अभी तक समाप्त नहीं हुई है।
– सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित हो, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग से पत्राचार किया गया है। अस्पताल में मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध करवाने में स्वास्थ्य विभाग का सहयोग निरंतर मिल रहा है। उम्मीद है कि अस्पताल को जल्द ही ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए बजट का प्रावधान होगा। वर्तमान में विभाजित रोगियों के लिए ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है।
-डॉ। रोशन लाल कौंडल, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी
-जोगिंद्रनगर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट जल्द स्थापित हो, इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री से पत्राचार मेरे माध्यम से भी होगा। अस्पताल को एकारेंस और कुछ ऑक्सीजन कंसीटेटर भी मेरे माध्यम से उपलब्ध करवाए गए हैं। ऐसे में कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी।
-प्रकाश राणा, विधायक

जोगिंद्रनगर (मंडी)। जोगिंद्रनगर उपमंदलीय अस्पताल में प्रस्तावित 40 लाख का ऑक्सीजन प्लांट सामानों की फाइल में दफन हो चुका है। समय रहते यदि इस ऑक्सीजन प्लांट पर नेता और अफसरशाही संजीदा होती तो कोविद के इस भयावह दौर में यह जोगिंद्रनगर वासियों के लिए संजीवनी से कम न होता। हॉटस्पॉट बने उपमंडल में कोरोना टाइपों के हिसाब से ऑक्सीजन की व्यवस्था उपमंदलीय अस्पताल में नहीं है। आठ से दस घंटे की ऑक्सीजन के बैकअप के सहारे उपमंडल के सैकड़ों को विभाजित मरीज हैं। ऐसे में आने वाले समय में जोगिंद्रनगर अस्पताल की ऑक्सीजन की बड़ी आपूर्ति के लिए अन्य विभागों पर निर्भर रहना होगा। उपमंडल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए ऑक्सीजन के भंडारण पर भी अस्पताल प्रशासन लगातार अपने स्तर पर कार्य कर रहा है लेकिन को विभाजित मरीजों की बढ़ती संख्या अस्पताल प्रशासन के लिए आने वाले समय में बड़ी परेशानियों के साथ होगा। ऐसी संभावनाएं अस्पताल प्रशासन की ओर से भी सामने आई हैं।

ऑक्सीजन प्लांट होता है तो हर वार्ड के मरीजों को बिस्तर पर सुविधा मिलती है

सौ बिस्तर वाले सिविल अस्पताल जोगिंद्रनगर पर क्षेत्र की सवा लाख आबादी निर्भर है। अस्पताल की बहुमंजिला इमारत में महिला, पुरुष, शिशु और गायनी वार्ड में लगभग सौ मरीजों के दाखिल करने की व्यवस्था है। आइसोलेशन वार्ड भी मरीजों के लिए शुरू किया है। सर्जिकल और आपातकालीन वार्ड भी अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए बना रखा है लेकिन किसी भी वार्ड में बिस्तर तक ऑक्सीजन सुविधा नहीं है। लगभग 40 लाख रुपये का प्राक्कलन तैयार कर ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की योजना अस्पताल प्रशासन की ओर से तैयार की गई थी, लेकिन अभी तक समाप्त नहीं हुई है।

– सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित हो, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग से पत्राचार किया गया है। अस्पताल में मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध करवाने में स्वास्थ्य विभाग का सहयोग निरंतर मिल रहा है। उम्मीद है कि अस्पताल को जल्द ही ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए बजट का प्रावधान होगा। वर्तमान में विभाजित रोगियों के लिए ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है।

-डॉ। रोशन लाल कौंडल, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी

-जोगिंद्रनगर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट जल्द स्थापित हो, इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री से पत्राचार मेरे माध्यम से भी होगा। अस्पताल को एकारेंस और कुछ ऑक्सीजन कंसीटेटर भी मेरे माध्यम से उपलब्ध करवाए गए हैं। ऐसे में कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी।

-प्रकाश राणा, विधायक





Source link

मंडी नया मंडी न्यूज़ मंडी न्यूज़ टुडे मंडी न्यूज हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Mandi News

लोगों की मदद को आगे आए महासंघ

{“_id”: “609427db8ebc3e8d915ab496”, “slug”: “खड़ी-बैठक-कहना-महासंघ-से-मदद-के लिए कोविद-रोगी-से-मंडी-समाचार-sml3695512131”, “कहानी”: “कहानी” , “स्थिति”: “प्रकाशित करें”, “title_hn”: ” u0932 u094b u0917 u094b u09902

Mandi News

मंत्री की बेटी को पहले ही कोरोना वैक्सीन लगाने पर स्वास्थ्य विभाग पर दर्ज हो एफआई आर र

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

सरकाघाट (मंडी)। हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष यदोपति ठाकुर ने जिला परिषद सदस्य वंदना गुलेरिया और स्वास्थ्य