जेई पदोन्नति में पिक एंड चूज की नीति अपना रही सरकार: शर्मा

Published by Razak Mohammad on


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹365 & To get 20% off, use code: 20OFF

ख़बर सुनें

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश कनिष्ठ अभियंता संघ की प्रदेश स्तरीय बैठक गूगल ऐप पर प्रदेशाध्यक्ष राजीव कुमार शर्मा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में प्रदेश के अधिकांश पदाधिकारियों ने भाग लिया और विभिन्न समस्याओं तथा मांगों पर चर्चा की।
प्रदेशाध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया कि प्रदेश में सहायक अभियंताओं के कई पद खाली पड़े हैं, लेकिन जेई वर्ग को पदोन्नत नहीं किया जा रहा है और जो इक्का-दुक्का पदोन्नतियां हो रही हैं, उनके लिए पिक एंड चूज की नीति अपनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि संघ ऐसी नीति का हर मंच पर विरोध करेगा। उन्होंने सरकार से मांग की है कि जिस किसी भी कनिष्ठ अभियंता की वरिष्ठता बनती है, उसे सीधे तौर पर पदोन्नति का लाभ दिया जाए और बैक डोर एंट्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया जाए। राजीव कुमार ने कहा कि अभी हाल ही में कैबिनेट में निर्णय लिया था कि बाहरी राज्यों के उम्मीदवारों को नौकरियां नहीं दी जाएंगी। सरकारी नौकरियों में हिमाचल के लोगों को तरजीह दी जाएगी, लेकिन सरकार अपने ही आदेशों की अवहेलना कर रही है। उन्होंने कहा कि अभी भी बाहरी राज्यों के लोगों को नौकरियां देने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। उन्होंने बताया कि हिमाचल बिजली बोर्ड में 42 पद बाहरी राज्यों से भरे गए, जो कि निंदनीय कदम है। उन्होंने बताया कि शिमला में 14 सितंबर को राज्य स्तरीय बैठक का आयोजन किया जा रहा हैै, जिसमें सभी जोन के प्रधान, महासचिव और प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारी भाग लेंगे। वहीं, बैठक में निर्णय लिया गया कि 15 सितंबर को विश्व इंजीनियरिंग-डे हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। सभी इंजीनियर इस दिन अपने-अपने हेडक्वार्टर में कोविड-19 के नियमों की पालना करते हुए मनाएं। बैठक में महासचिव जेएल कांटा, अतिरिक्त महासचिव विजय धीमान, मुख्य सलाहकार सीता राम ठाकुर, प्रधान बिलासपुर अनूप गौतम, महासचिव दिनेश शर्मा, कोशाध्यक्ष दिनेश गुप्ता, महेश गौतम, नूरपुर से उमेंद्र ठाकुर, कांगड़ा से आनंद कटोच, मंडी से कुलदीप शर्मा, रामपुर से अश्वनी शर्मा, सोलन से पवन चंदेल, राजेश शर्मा, ऊना से रजनीश, दीपक भारद्वाज, किन्नौर से भीम सेन नेगी, कुल्लू से कीर्तिमान और अनूप शर्मा भी मौजूद रहे।

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश कनिष्ठ अभियंता संघ की प्रदेश स्तरीय बैठक गूगल ऐप पर प्रदेशाध्यक्ष राजीव कुमार शर्मा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में प्रदेश के अधिकांश पदाधिकारियों ने भाग लिया और विभिन्न समस्याओं तथा मांगों पर चर्चा की।

प्रदेशाध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया कि प्रदेश में सहायक अभियंताओं के कई पद खाली पड़े हैं, लेकिन जेई वर्ग को पदोन्नत नहीं किया जा रहा है और जो इक्का-दुक्का पदोन्नतियां हो रही हैं, उनके लिए पिक एंड चूज की नीति अपनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि संघ ऐसी नीति का हर मंच पर विरोध करेगा। उन्होंने सरकार से मांग की है कि जिस किसी भी कनिष्ठ अभियंता की वरिष्ठता बनती है, उसे सीधे तौर पर पदोन्नति का लाभ दिया जाए और बैक डोर एंट्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया जाए। राजीव कुमार ने कहा कि अभी हाल ही में कैबिनेट में निर्णय लिया था कि बाहरी राज्यों के उम्मीदवारों को नौकरियां नहीं दी जाएंगी। सरकारी नौकरियों में हिमाचल के लोगों को तरजीह दी जाएगी, लेकिन सरकार अपने ही आदेशों की अवहेलना कर रही है। उन्होंने कहा कि अभी भी बाहरी राज्यों के लोगों को नौकरियां देने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। उन्होंने बताया कि हिमाचल बिजली बोर्ड में 42 पद बाहरी राज्यों से भरे गए, जो कि निंदनीय कदम है। उन्होंने बताया कि शिमला में 14 सितंबर को राज्य स्तरीय बैठक का आयोजन किया जा रहा हैै, जिसमें सभी जोन के प्रधान, महासचिव और प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारी भाग लेंगे। वहीं, बैठक में निर्णय लिया गया कि 15 सितंबर को विश्व इंजीनियरिंग-डे हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। सभी इंजीनियर इस दिन अपने-अपने हेडक्वार्टर में कोविड-19 के नियमों की पालना करते हुए मनाएं। बैठक में महासचिव जेएल कांटा, अतिरिक्त महासचिव विजय धीमान, मुख्य सलाहकार सीता राम ठाकुर, प्रधान बिलासपुर अनूप गौतम, महासचिव दिनेश शर्मा, कोशाध्यक्ष दिनेश गुप्ता, महेश गौतम, नूरपुर से उमेंद्र ठाकुर, कांगड़ा से आनंद कटोच, मंडी से कुलदीप शर्मा, रामपुर से अश्वनी शर्मा, सोलन से पवन चंदेल, राजेश शर्मा, ऊना से रजनीश, दीपक भारद्वाज, किन्नौर से भीम सेन नेगी, कुल्लू से कीर्तिमान और अनूप शर्मा भी मौजूद रहे।

Source link

Categories: Kangra

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *