कोरोना फंड के नाम पर एकत्रित पचास लाख नहीं करवाए जमा

Hamirpur


ख़बर सुनना

भोरंज (हमीरपुर)। विकास खंड टौणीदेवी की एक ग्राम पंचायत के अधिकार की ओर से ग्रामीणों से कोरोना निधि के नाम पर एकत्रित राशि अभी तक सरकारी खजाने में जमा नहीं हुई है। संबंधित पंचायत में इस उगाही का कोई रिकॉर्ड मौजूद नहीं है। जिसकी सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत ली गई जानकारी से पता चला है। ग्रामीण राकेश शर्मा ने बताया कि आरटीआई में जब कोई रिकॉर्ड पंचायत सचिव से नहीं मिला तो पंचायत के लोगों में पूर्व जनप्रतिनिधियों के प्रति रोष पनपने लगा है।
पंचायत सचिव की ओर से दी गई सूचना में यह साफ कहा गया है कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है और न ही ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है। यह मामला पूर्व पंचायत के कार्यकाल का है। राकेश शर्मा ने बताया कि लोगों से यह दान की राशि एकत्र करने का जिम्मा पंचायत के सभी सातों सदस्यों को दिया गया था। जिन्होंने लगभग पचास लाख रुपये की राशि एकत्रित कर पूर्व उपप्रधान के पास जमा करवा दी थी, लेकिन यह राशि आगे जमा नहीं करवाई गई।
यह भी पता चला है कि यह धनराशि तत्कालीन सदस्यों ने उपप्रधान के पास जमा करवा दी थी। लेकिन न तो इसका रिकॉर्ड रखा गया और न ही यह राशि जमा करवाई गई। दान की इस राशि की ग्रामीणों को कोई रसीद भी नहीं दी गई। पंचायत प्रमुख ने माना कि यह राशि सभी सदस्यों ने अपने पास जमा करवाई थी। बीच में पंचायत चुनाव होने की वजह से लोगों को इसकी रसीदें नहीं दी जा सकी थीं। उन्होंने कहा कि अभी तक राशि जमा नहीं की जा सकी है, इसका मिलान होते ही यह जमा करवा दी जाएगी।

भोरंज (हमीरपुर)। विकास खंड टौणीदेवी की एक ग्राम पंचायत के अधिकार की ओर से ग्रामीणों से कोरोना निधि के नाम पर एकत्रित राशि अभी तक सरकारी खजाने में जमा नहीं हुई है। संबंधित पंचायत में इस उगाही का कोई रिकॉर्ड मौजूद नहीं है। जिसकी सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत ली गई जानकारी से पता चला है। ग्रामीण राकेश शर्मा ने बताया कि आरटीआई में जब कोई रिकॉर्ड पंचायत सचिव से नहीं मिला तो पंचायत के लोगों में पूर्व जनप्रतिनिधियों के प्रति रोष पनपने लगा है।

पंचायत सचिव की ओर से दी गई सूचना में यह साफ कहा गया है कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है और न ही ऐसा कोई रिकॉर्ड है। यह मामला पूर्व पंचायत के कार्यकाल का है। राकेश शर्मा ने बताया कि लोगों से यह दान की राशि एकत्र करने का जिम्मा पंचायत के सभी सातों सदस्यों को दिया गया था। जिन्होंने लगभग पचास लाख रुपये की राशि एकत्रित कर पूर्व उपप्रधान के पास जमा करवा दी थी, लेकिन यह राशि आगे जमा नहीं करवाई गई।

यह भी पता चला है कि यह धनराशि तत्कालीन सदस्यों ने उपप्रधान के पास जमा करवा दी थी। लेकिन न तो इसका रिकॉर्ड रखा गया और न ही यह राशि जमा करवाई गई। दान की इस राशि की ग्रामीणों को कोई रसीद भी नहीं दी गई। पंचायत प्रमुख ने माना कि यह राशि सभी सदस्यों ने अपने पास जमा करवाई थी। बीच में पंचायत चुनाव होने की वजह से लोगों को इसकी रसीदें नहीं दी जा सकी थीं। उन्होंने कहा कि अभी तक राशि जमा नहीं की जा सकी है, इसका मिलान होते ही यह जमा करवा दी जाएगी।





Source link

हमीरपुर (हि। प्र।) नवीन हमीरपुर (हि। प्र।) न्यूज़ हमीरपुर (हिमाचल) न्यूज़ हमीरपुर (हिमाचल) न्यूज़ टुडे हमीरपुर (हिमाचल) न्यूज़ हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Hamirpur

बिजली बोर्ड के फील्ड स्टाफ और जेई को कोरोनाटन घोषित करने की मांग

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

हमीरपुर। बिजली बोर्ड की ओर से जूनियर इंजीनियर एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ज्ञापन भेजकर बोर्ड के फील्ड

Hamirpur

कोरोना की रोकथाम के लिए सरकार उठा रही उचित कदम: सैनल

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

हमीरपुर। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और आयुष मंत्री डॉ। राजीव सैनल ने कहा कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम

Hamirpur

बिना फंक घूमने वाले एक दर्जन लोगों के काटे विज्ञापन

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

नादौन। पुलिस थाना नादौन के तहत शहर में बिना पूछे लगाकर चक्करने वाले एक दर्जन लोगों के संयोजन काटे

Hamirpur

हार्डवेयर की दुकानें बंद हैं, निर्माण कार्य हो रहे हैं

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

रंगस (नादौन)। कोरोना कर्फ्यू और लॉकडाउन के चलते क्षेत्र में हार्डवेयर की दुकानें बंद रहने के कारण निजी निर्माण

%d bloggers like this: