कोरोना: घरेलू नुसालों के बजाय लें डॉ की सलाह, स्वास्थ्य विभाग ने की अपील

Shimla News


अमर उजाला नेटवर्क, शिमला

द्वारा प्रकाशित: कृष्ण सिंह
अपडेटेड शुक्र, 30 अप्रैल 2021 06:49 अपराह्न IST

ख़बर सुनना

बढ़ते कोरोना मामलों के बीच स्वास्थ्य विभाग ने एडवाइजरी जारी की है कि कोविड के लक्षण दिखने पर लोग घरेलू नुसालों के चक्कर में न पड़ें और डॉक्टर से संपर्क करें। कोरोना टेस्टेटियां और उसे बचाव के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन, भारत सरकार और राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी प्रोटोकॉल के अनुसार पेय पदार्थ। पिछले 15 दिनों में हिमाचल प्रदेश में पौने तीन गुना बढ़े मौत के आंकड़े कम करने के लिए अब स्वास्थ्य विभाग ने यह कवायद शुरू की है।]अस्पतालों में गंभीर स्थिति में आने वाले मरीजों की मौत के मामलों में यह बात सामने आई है कि वह लक्षण होने के बाद भी घरेलू नुसालों के चलते अस्पताल आने से बचने की कोशिश कर रहे हैं।

विशेषज्ञ डॉ। मरीज की स्थिति के अनुसार ही दवाएँ आसानी से दे रहे हैं। मरीज अपनी समझ के अनुसार दवाओं से ज्यादा घरेलू नुसलों पर जोर देते हैं। इस कारण से सही इलाज में मिलने में देर होती है और जब तक रोगी अस्पताल पहुंचता है, तब तक उसे बचाना मुश्किल हो जाता है। एनएचएम के मिशन निदेशक डॉ। निपुण जिंदल ने कहा कि लक्षण मिलने पर तत्काल को विभाजित परीक्षण करना चाहिए और घरेलू नुसालों से ज्यादा डॉ की सलाह के अनुसार काम करना चाहिए।

बढ़ते कोरोना मामलों के बीच स्वास्थ्य विभाग ने एडवाइजरी जारी की है कि कोविड के लक्षण दिखने पर लोग घरेलू नुसालों के चक्कर में न पड़ें और डॉक्टर से संपर्क करें। कोरोना टेस्टेटियां और उसे बचाव के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन, भारत सरकार और राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी प्रोटोकॉल के अनुसार पेय पदार्थ। पिछले 15 दिनों में हिमाचल प्रदेश में पौने तीन गुना बढ़े मौत के आंकड़े कम करने के लिए अब स्वास्थ्य विभाग ने यह कवायद शुरू की है।]अस्पतालों में गंभीर स्थिति में आने वाले मरीजों की मौत के मामलों में यह बात सामने आई है कि वह लक्षण होने के बाद भी घरेलू नुसालों के चलते अस्पताल आने से बचने की कोशिश कर रहे हैं।

विशेषज्ञ डॉ। मरीज की स्थिति के अनुसार ही दवाएँ आसानी से दे रहे हैं। मरीज अपनी समझ के अनुसार दवाओं से ज्यादा घरेलू नुसलों पर जोर देते हैं। इस कारण से सही इलाज में मिलने में देर होती है और जब तक रोगी अस्पताल पहुंचता है, तब तक उसे बचाना मुश्किल हो जाता है। एनएचएम के मिशन निदेशक डॉ। निपुण जिंदल ने कहा कि लक्षण मिलने पर तत्काल को विभाजित परीक्षण करना चाहिए और घरेलू नुसालों से ज्यादा डॉ की सलाह के अनुसार काम करना चाहिए।





Source link

कोरोना पर डॉक्टर की सलाह कोरोनावाइरस कोरोनावायरस को हिमाचल अद्यतन करें नवीनतम हिमाचल प्रदेश समाचार हिंदी में स्वास्थ्य विभाग की सलाह हिमाचल प्रदेश समाचार हिंदी में हिमाचल प्रदेश हिंदी समचार हिमाचल स्वास्थ्य विभाग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Shimla News

हिमाचल में आज से कोरोना कर्फ्यू, बिना पूछे बार-बार पकड़े गए तो आठ दिन की जेल

स्कैंडल प्वाइंट मालरोड शिमला
– फोटो: अमर उजाला

ख़बर सुनना

ख़बर सुनना

हिमाचल प्रदेश में आज सवेरे छह बजे से कोरोना कर्फ्यू लागू हो रहा

Shimla News

हिमाचल में चार और चेकपोस्ट बनाएगी सरकार, खनन माफिया पर शिकंजा कसने की तैयारी है

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला

द्वारा प्रकाशित: कृष्ण सिंह
अपडेटेड शुक्र, 07 मई 2021 03:04 AM IST

सार
सरकार ने सुरक्षा कर्मियों से लेस करने के साथ

Shimla News

10 वीं के छात्र पढ़ेंगे ड्राग एब्यूज: सोसाइटी एंड चैलेंज

विपिन चौधरी, अमर उजाला नेटवर्क, धर्मशाला

द्वारा प्रकाशित: अरविंद ठाकुर
अपडेटेड शुक्र, 07 मई 2021 03:03 AM IST

नागरिक (फाइल फोटो)
– फोटो: अमर उजाला

ख़बर सुनना