कोरोना के खौफ से ग्रामीणों ने बेई में बैठाया पहरा

Published by Razak Mohammad on

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

भावानगर (किन्नौर)। जिले के भावानगर पुलिस थाने में चार पुलिस कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भावावैली के ग्रामीण सजग हो गए हैं। ग्राम पंचायत काफनू, कटगांव और यांगपा के प्रतिनिधियों ने भावावैली के विभिन्न गांवों में आने वाले लोगों पर पैनी नजर रखने के लिए बेई में निगरानी केंद्र स्थापित कर दिया है।
गौरतलब है कि भावानगर मुख्यालय होने के कारण यहां भावावैली के विभिन्न 14 गांवों के लोगों का आना-जाना लगा रहता है। ऐसे में भावानगर में चार पुलिस कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद लोग सहमे हुए हैं। निगरानी केंद्र में भावावैली से बाहर जा रहे और यहां पहुंचने वाले लोगों का पंजीकरण किया जा रहा है। लोगों से यह भी पूछा जा रहा है कि वह कहां जा रहे हैं और कहां से आ रहे हैं? काफनू पंचायत प्रधान दिग्विजय नेगी, कटगांव पंचायत प्रधान पदम चारस और यांगपा पंचायत प्रधान नरेंद्र नेगी ने कहा कि वैली की तीनों पंचायतों ने भावानगर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते बेई में निगरानी केंद्र स्थापित किया है। भावावैली के कंडे में कोरोना वायरस का खतरा टलने तक किसी भी व्यक्ति को प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भावावैली कंडे का मुलिंग, कारा, पाशा और बलदार कई लोगों का पसंदीदा पर्यटनस्थल है। ऐसे में कई लोग प्राकृतिक सौंदर्य निहारने वहां कोरोना काल में भी गुपचुप तरीके से पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट टलने तक भावा कंडे में किसी ने भी प्रवेश किया तो उसके खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा। वह व्यक्ति चाहे भावावैली के किसी गांव का ही क्यों न हो।

भावानगर (किन्नौर)। जिले के भावानगर पुलिस थाने में चार पुलिस कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भावावैली के ग्रामीण सजग हो गए हैं। ग्राम पंचायत काफनू, कटगांव और यांगपा के प्रतिनिधियों ने भावावैली के विभिन्न गांवों में आने वाले लोगों पर पैनी नजर रखने के लिए बेई में निगरानी केंद्र स्थापित कर दिया है।

गौरतलब है कि भावानगर मुख्यालय होने के कारण यहां भावावैली के विभिन्न 14 गांवों के लोगों का आना-जाना लगा रहता है। ऐसे में भावानगर में चार पुलिस कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद लोग सहमे हुए हैं। निगरानी केंद्र में भावावैली से बाहर जा रहे और यहां पहुंचने वाले लोगों का पंजीकरण किया जा रहा है। लोगों से यह भी पूछा जा रहा है कि वह कहां जा रहे हैं और कहां से आ रहे हैं? काफनू पंचायत प्रधान दिग्विजय नेगी, कटगांव पंचायत प्रधान पदम चारस और यांगपा पंचायत प्रधान नरेंद्र नेगी ने कहा कि वैली की तीनों पंचायतों ने भावानगर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते बेई में निगरानी केंद्र स्थापित किया है। भावावैली के कंडे में कोरोना वायरस का खतरा टलने तक किसी भी व्यक्ति को प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भावावैली कंडे का मुलिंग, कारा, पाशा और बलदार कई लोगों का पसंदीदा पर्यटनस्थल है। ऐसे में कई लोग प्राकृतिक सौंदर्य निहारने वहां कोरोना काल में भी गुपचुप तरीके से पहुंच रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट टलने तक भावा कंडे में किसी ने भी प्रवेश किया तो उसके खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा। वह व्यक्ति चाहे भावावैली के किसी गांव का ही क्यों न हो।

Source link

Categories: Rampur Bushahar

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *